1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

"पोंटिंग को तो सस्पेंड कर देना चाहिए"

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेट कप्तान इयान चैपल का मानना है कि मौजूदा कप्तान रिकी पोंटिंग को अंपायर से बदतमीजी के लिए सस्पेंड कर दिया जाना चाहिए. पोंटिंग पर 40 फीसदी मैच फीस का जुर्माना लगाया गया है.

default

सोमवार को एशेज टेस्ट के दूसरे दिन पोंटिंग अंपायरों से उलझ पड़े. उनकी टीम इंग्लैंड के बढ़िया खेल के आगे संघर्ष करने को मजबूर है. और इसकी खीज पोंटिंग के व्यवहार पर भी नजर आई जब वह अंपायर आलीम डार से उलझ गए. केविन पीटरसन को आउट न दिए जाने के बाद पोंटिंग डार की तरफ उंगली दिखाते देखे गए. बाद में वह लेग अंपायर टोनी हिल की तरफ मुड़ गए जबकि उनके बाकी साथियों ने डार को घेर लिया. विडियो अंपायर मरायस इरासमस ने पीटरसन को नॉट आउट दिया था.

Ian Chappell

इयान चैपल (दाएं)

चैपल मानते हैं कि पोंटिंग का व्यवहार स्वीकार करने लायक नहीं था और उन्होंने सीमा पार की. उन्होंने कहा, "जब मैं खेलता था तब यह बात बिल्कुल साफ थी कि आप किसी बात पर विचार तो कर सकते हैं लेकिन बहस नहीं कर सकते. अगर मुझे फैसला करना हो तो मैं कहूंगा कि इस अपराध की सजा निलंबन होगी."

अखबार द ऑस्ट्रेलियन के मुताबिक चैपल कहते हैं कि पोंटिंग बार बार ऐसा करते हैं, इसलिए भी उनकी हरकत माफी के काबिल नहीं है. वह कहते हैं, "ऐसा नहीं है कि पोंटिंग ने पहली बार ऐसा किया. मुझे लगता है कि इसके लिए थोड़ा कसूर तो आईसीसी का भी है. अगर आपको इन चीजों को रोकना है तो तभी से कदम उठाने होंगे जब ये चीजें पहली बार होती हैं."

पोंटिंग जब पहली बार खेले थे तो ऑस्ट्रेलिया के कप्तान मार्क टेलर थे. वह भी मानते हैं कि सोमवार को पोंटिंग ने अपनी हरकत से अपना ही नुकसान किया है. टेलर ने कहा, "कभी कभार खिलाड़ियों के बीच कहा सुनी होती रहती है. लेकिन आपको कहीं तो सीमा रेखा खींचनी होगी." इंग्लैंड के पूर्व कप्तान टोनी ग्रेग ने भी पोंटिंग की इस हरकत पर नाराजगी जताई है.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः आभा एम

DW.COM

WWW-Links