1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

"पॉल ऑक्टोपस की चटनी बना दो"

स्पेन के हाथों 1-0 से हार के बाद पूरा जर्मनी स्तब्ध और हैरान था. गहरी उदासी पसरी हुई थी लेकिन शायद ओबरहाउजन के सीलाइफ का ऑक्टोपस मंद मंद मुस्कुरा रहा होगा. जिसकी भविष्यवाणी एक बार फिर सही साबित हुई और उसका स्कोर 6-0 रहा.

default

आखिर क्यों

करामाती ऑक्टोपस पॉल ने एक बार फिर जिस डिब्बे को चुना, जीत उसी की हुई. स्पेन और जर्मनी के मैच से एक दिन पहले मंगलवार को इस ऑक्टोपस ने स्पेन को विजेता बताया था और फीफा वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल का नतीजा भी बिलकुल वैसा ही आया. स्पेन ने जर्मनी को हरा दिया.

मंगलवार को जब पॉल ऑक्टोपस के सामने खाने के दो डिब्बे

Oktopus Paul Oberhausen WM Fußball Ergebnisse

अर्जेंटीना के खिलाफ जर्मनी को चुना था

लाए गए, तो कई राष्ट्रीय टेलीविजन चैनलों ने अपने प्रसारण बीच में रोक कर इसका लाइव प्रसारण किया. लेकिन पूरा जर्मनी उस वक्त सन्न रह गया, जब पॉल ने स्पेन को चुना.

एक दिन पहले तक इस ऑक्टोपस को प्यार करने वाली जर्मन जनता पॉल से रूठ गई है. डेयर वेस्टर्न अखबार के मुताबिक लोगों ने फेसबुक और ट्विटर के जरिए संदेश भेजने शुरू कर दिए हैं. कुछ का कहना है कि पॉल को फ्राई कर देना चाहिए, कुछ कहते हैं कि उसे बारबेक्यू में डाल दिया जाना चाहिए और कुछ उसका सलाद और चटनी बनाने का सुझाव देते हैं.

अखबार के मुताबिक कुछ गुस्साए जर्मन चाहते हैं कि उसे शार्क से भरे टैंक में छोड़ दिया जाना चाहिए. कल तक यह ऑक्टोपस जर्मनी का हीरो था. लेकिन अब कुछ हिस्सों में तो इसके खिलाफ गाने भी गाए जा रहे हैं.

बॉन से करीब 100 किलोमीटर दूर ओबरहाउजन शहर के सीलाइफ एक्वेरियम में पॉल ऑक्टोपस को रखा गया है, जिसे जर्मनी के मैचों से पहले दो अलग अलग डिब्बों में खाना दिया जाता है. एक में जर्मनी का झंडा और दूसरे में जिस देश से मुकाबला होना होता था, उसका झंडा लगा होता था. पॉल जिस डिब्बे को पहले खोलता, उसकी जीत होती आई थी. अर्जेंटीना और इंग्लैंड के मैचों से पहले उसने सही भविष्यवाणी की थी और दोनों बार जर्मनी के डिब्बे को खोला था. इतना ही नहीं, सर्बिया के खिलाफ मैच में उसने सर्बिया के डिब्बे को चुना और जर्मनी उस मैच में हार गया.

मंगलवार को एक्वेरियम में स्पेन और जर्मन झंडों के साथ डिब्बे उतारे गए. पॉल ने पहले जर्मन डिब्बे का रुख किया लेकिन अचानक दांव बदलते हुए वह स्पेनी डिब्बे पर जा बैठा. तभी से लोगों में इस बात का अंदेशा होने लगा था कि कहीं इस बार भी पॉल ठीक भविष्यवाणी न कर दे. डरबन में स्पेन के खिलाफ मुकाबले में ऐसा ही हुआ. जर्मनी हार गया और स्पेन जीत कर फाइनल में पहुंच गया.

यूं तो ऑक्टोपस को बेहद समझदार प्राणी समझा जाता है लेकिन वैज्ञानिकों की राय है कि यह महज इत्तफाक है कि पॉल ऑक्टोपस की सभी भविष्यवाणियां सही साबित हुईं. उसने इससे पहले यूरो 2008 में भी जर्मन मैचों की भविष्यवाणी की थी और सिर्फ फाइनल छोड़ कर उसके सभी अनुमान सही साबित हुए. यूरो कप 2008 के फाइनल में जर्मनी और स्पेन की भिड़ंत हुई थी. ऑक्टोपस ने जर्मनी को चुना था. लेकिन जीत स्पेन की हुई. इस बार भी जर्मनी की हार हुई लेकिन पॉल ऑक्टोपस जीत गया.

रिपोर्टः एएफपी/ए जमाल

संपादनः एम गोपालकृष्णन

संबंधित सामग्री