1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

पेरिस में आतंकी हमले, सौ से अधिक की मौत

पेरिस में हुए आतंकी हमलों में सवा सौ से ज्यादा लोग मारे गए हैं. आतंकवादियों ने कलाशनिकोव से अंधाधुंध गोलियां चलाई. मीडिया रिपोर्टों के अनुसार हमलावरों ने कंसर्ट हॉल में लोगों को बंधक बनाया था जहां सौ लोग मारे गए हैं..

राष्ट्रपति फ्रांसोआ ओलांद ने देश भर में इमरजेंसी लगाने की घोषणा की है. स्कूलों और कॉलेजों को शनिवार को बंद कर दिया गया है. फ्रांस की सीमा को सील कर दिया गया है. मीडिया रिपोर्टों के अनुसार सात जगहों पर गोलाबारी हुई,

और एक कंसर्ट हॉल में बंधक बनाने की घटना हुई. प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार कंसर्ट हॉल में हुए बंधक कांड के दौरान एक हमलावर ने अल्ला हो अकबर का नारा लगाया. अभी तक यह साफ नहीं है कि हमलों की इस्लामी कट्टरपंथी पृष्ठभूमि है.

इस बीच पुलिस ने बाटाक्लान कंसर्ट हॉल पर हमले के बाद पर धावा बोला. हमले में 100 लोग मारे गए. हमलावर कौन हैं और हमला किन पर लक्षित था, यह साफ नहीं है. हमले का एक लक्ष्य जर्मनी और फ्रांस के बीच होने वाला एक फुटबॉल मैच भी था.

सुबह में जर्मन टीम के होटल में बम अलार्म हुआ था. शाम में खेल शुरू के 16वें मिनट में स्टेडियम के बाहर दूसरे हमलों के साथ ही एक धमाका हुआ. हमलावर स्टेडियम के अंदर नहीं घुस पाए.

राष्ट्रपति ओलांद ने राष्ट्र के नाम संदेश में इमरजेंसी लगाने की घोषणा की. जर्मन चांसलर अंगेला मैर्केल ने पेरिस की घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया है. उन्होंने शोक व्यक्त करते हुए कहा, "मेरी सोच इस समय आतंकी हमले के शिकारों, उनके परिजनों और पेरिस के सभी लोगों के साथ हैं."

जर्मन विदेश मंत्री फ्रांक वाल्टर श्टाइनमायर ने हमलों पर दुख व्यक्त करते हुए कहा, "हम फ्रांस के साथ हैं."

DW.COM

संबंधित सामग्री