1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

पेरिस का आखिरी वयस्क सिनेमाघर

पेरिस के बिलकुल बीच की एक पिछली गली में पुराना सा एक सिनेमाघर है. इसके बाहर नियमित रूप से आने वाले दर्शकों की भीड़ लगी है. ऑनलाइन बिकने वाले उत्तेजक वीडियो को मात देता ये सिनेमाघर.

शहर के बिलकुल बीच की एक पिछली गली में पुराना सा एक सिनेमाघर है. इसके बाहर नियमित रूप से आने वाले दर्शकों की भीड़ लगी है. ऑनलाइन बिकने वाले उत्तेजक वीडियो को मात देता ये सिनेमाघर.

ले बेवरली नाम का ये सिनेमाघर पेरिस का ऐसा इकलौता पंजीकृत सिनेमाघर है जहां सिर्फ अश्लील फिल्में ही दिखाई जाती हैं और वह भी रेट्रो क्लासिकल. यहां 1970 के दशक की 35 एमएम की फिल्में दिखाई जाती हैं और साथ ही आधुनिक फिल्में भी. यहां हर हफ्ते करीब 700 लोग पहुंचते हैं. इनमें से अधिकतर नियमित ग्राहक.

मालिक मॉरिस लारोष इस थिएटर को 30 साल से चला रहे हैं और उन्हें अभी भी वो दिन याद है जब सेक्स सिनेमा के अच्छे दिन थे और पेरिस का ग्रैंड बुलेवार प्रतिस्पर्धियों से भरा पड़ा था. लेकिन इंटरनेट में ऑन डिमांड पोर्नोग्राफी के कारण थिएटर में आने वाले लोगों की संख्या बहुत कम हुई है. लारोष बताते हैं, "ऐसे भी ग्राहक हैं जिन्हें मैं तबसे जानता हूं जब मैं यहां आया था, 30 साल पहले. हमने उनके काम के दिन देखे, रिटायरमेंट के और हम सभी एक ही उम्र के हैं उन्हें चिंता है कि ले बेवरली सिनेमा, जो अब कम ही फायदा करता है, बचेगा भी या नहीं.

प्यार के इस शहर में भी पोर्न सिनेमा देखने वालों में करीब करीब सारे पुरुष हैं. और 700 में से अधिकतर 60 साल के आसपास के हैं. लारोष कहते हैं कि उन्होंने खुद दो या तीन ही पोर्न फिल्में देखी हैं. ये थिएटर उन्होंने 1992 में खरीदा था. 120 सीटों वाले सिनेमाघर में फिल्में दोपहर तीन बजे से दिखाई जाती हैं क्योंकि यहां आने वाले ग्राहक देर रात को ट्रेनों से घर जाने में डरते हैं.

वो भी जानते हैं कि उनके रिटायर होने के बाद उनके इस बिजनेस का कोई भविष्य नहीं है लेकिन फिलहाल वो खुश हैं और उनके ग्राहक भी.

एएम/एजेए (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री