1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

पुलिस ने जारी किए लंदन के संदिग्ध हमलावरों के नाम

लंदन पुलिस ने शनिवार रात हुए हमले के सिलसिले में तीन में से दो संदिग्ध हमलावरों के नाम जारी किए हैं. पूर्वी लंदन में लोगों पर गाड़ी चढ़ाने और चाकू घोपने की घटना के बाद पुलिस की कार्रवाई में ये तीन लोगों मारे गए थे.

मेट्रोपोलिटन पुलिस ने इन दोनों संदिग्ध हमलावरों की तस्वीरें प्रकाशित की हैं, लेकिन यह भी कहा है कि "अभी औपचारिक पहचान की प्रक्रिया पूरी की जाएगी". ये दोनों लंदन के बार्किंग इलाके के बताए जा रहे हैं. पुलिस के मुताबिक जासूसों का मानना है कि संदिग्धों में से एक 27 वर्षीय ब्रिटिश नागरिक खुर्रम शहजाद बट है जिसका जन्म पाकिस्तान में हुआ था. दूसरे संदिग्ध का नाम राशिद रेदौने बताया जा रहा है जिसकी उम्र 30 वर्ष थी. यह व्यक्ति "लीबियाई और मोरोक्कन मूल का" बताया जा रहा है जो अलग नाम और जन्मतिथि इस्तेमाल करता था. सुरक्षा एजेंसियों को बट के बारे में पहले से जानकारी थी लेकिन उन्हें ऐसी कोई खुफिया जानकारी नहीं मिली थी कि किसी आतंकवादी हमले की योजना बनाई जा रही है.

हमले की शुरुआत शनिवार को उस समय हुई, जब तीन लोगों ने लंदन ब्रिज पर पैदल चल रहे लोगों पर गाड़ी चढ़ा दी. इससे पहले बार और रेस्त्रां में उन्होंने लोगों को चाकू भी मारा था. हमले में कुल सात लोग मारे गए जबकि दर्जनों घायल हो गए.

उधर, लंदन में सोमवार को सैकड़ों लोगों ने इस हमले में मारे गए लोगों को याद किया. लंदन के मेयर सादिक खान ने कहा कि यह शहर कभी आतंकवाद से नहीं डरेगा. उन्होंने ट्वीट किया, "आज रात हम उन लोगों के सम्मान में एकजुट खड़े हैं जिन्होंने अपनी जिंदगियों गंवायी हैं और एक साफ संदेश भेजा है: लंदन वाले कभी आतंकवाद से नहीं डरेंगे."

इस मौके पर ब्रिटेन की गृह मंत्री एंबर रड्ड, विपक्षी लेबर पार्टी के गृह मामलों की प्रवक्ता डायना एबॉट और पुलिस प्रमुख भी मौजूद थे. हमले के पीड़ितों की याद में एक मिनट का मौन रखा गया. मेयर सादिक खान ने कहा, "मैंने इस तरह की घिनौनी हरकतों में शामिल बीमार मानसिकता वाले चरमपंथियों को स्पष्ट संदेश देना चाहता हूं कि हम तुम्हें हरा देंगे, तुम्हारी जीत नहीं होगी." हमले के सिलसिले में अब तक 12 लोगों को हिरासत में लिया गया है. इनमें 55 साल का एक संदिग्ध भी शामिल है जिसे बिना आरोपों के रविवार को रिहा कर दिया गया.

दूसरी तरफ ब्रिटेन की विपक्षी लेबर पार्टी के नेता जेरमी कोर्बिन ने प्रधानमंत्री टेरीजा मे का इस्तीफा मांगा है. कोर्बिन ने ट्वीट किया, "आप सस्ते में समुदायों की सुरक्षा नहीं कर सकते हैं, जैसा टेरीजा मे ने सात साल से कोशिश की है. लेबर निवेश करेगी ताकि समुदाय सुरक्षित रहें." ब्रिटेन में 8 जून को आम चुनाव से पहले हुए इस हमले के बाद सुरक्षा एक बड़ा मुद्दा बन गया है. मे प्रधानमंत्री पद संभालने से पहले 2010 से 2016 के बीच प्रधानमंत्री डेविड कैमरन की सरकार में गृह मंत्री थी. इस दौरान पुलिस अफसरों की संख्या में 20 हजार लोगों की कटौती की गई थी.

एके/एमजे (डीपीए)

संबंधित सामग्री