1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

पुर्तगाल की चौंकाने वाली हार

यूरो 2016 के क्वालिफाइंग मैच में एक ओर तो जर्मनी ने स्कॉटलैंड को हराया लेकिन बड़ा उलटफेर एक दूसरे मैच में हुआ. अल्बानिया ने पुर्तगाल को हरा कर सबको चौंकाया.

पुर्तगाल को अपने सुपर स्टार क्रिस्टियानो रोनाल्डो के बिना उतरना पड़ा. रोनाल्डो चोट की वजह से बाहर हैं. इसके बावजूद लग रहा था कि पुर्तगाल दुनिया में 71वीं रैंकिंग वाली टीम अल्बानिया से हार गया. अल्बानिया ने एक गोल किया और वहीं निर्णायक साबित हुआ. सेकंड हाफ में बेकिम बेलाज की बढ़िया वॉली ने मैच का रुख ही बदल दिया. पुर्तगाल को कोई जवाबी गोल नहीं कर सका और मैच 1-0 के स्कोर के साथ खत्म हुआ. आधी सदी तक अल्बानिया एक भी बार यूरोपियन चैंपियनशिप के लिए क्वालिफाई नहीं कर पाया था.

मैनचेस्टर यूनाइटेड के लिए खेलने वाले पुर्तगाल के स्ट्राइकल नानी ने कहा, "यह बहुत ही बुरा नतीजा था. हमने शुरुआत ही खराब की और अब हमें खुद को उठाना होगा, सुधारना होगा."

उधर पिछले हफ्ते दोस्ताना मैच में अर्जेंटीना से हार चुका जर्मनी क्वालिफाइंग में संभला. रविवार के मैच में उसने स्कॉटलैंड को 2-1 से हराया. बायर्न म्यूनिख के लिए खेलने वाले थोमास मुलर ने दोनों हाफ में एक एक गोल करके जर्मनी की जीत पक्की कर दी.

स्कॉटलैंड ने दूसरे हाफ में बढ़िया खेल दिखाया जब इकेची आन्या ने 66 वें मिनट में गोल दाग कर स्कोर 1-1 से बराबर कर दिया. लेकिन उनकी टीम चार ही मिनट बाद मुलर के हमले को नहीं रोक सकी. उन्होंने 24वां अंतरराष्ट्रीय गोल करके जर्मनी को एक बार फिर आगे बढ़ा दिया. साल भर बाद यह पहला मौका रहा जब स्कॉटलैंड ने हार देखी.

जर्मनी की जीत ने स्कॉटलैंड से एक अहम अंक छीन लिया. जर्मनी और स्कॉटलैंड के अलावा इस ग्रुप में आयरलैंड, पोलैंड, जॉर्जिया और जिब्राल्टर हैं.

इस मैच में जर्मनी की जीत का मतलब है कि वर्ल्ड और यूरोपीयन चैंपियनशिप को मिला कर जर्मन टीम 33 मैचों से अविजित है. जर्मनी के कोच योआखिम लोएव ने जीत के बाद कहा, "मैं बहुत खुश हूं कि हमें तीन अंक मिल गए. मुझे पक्का पता था कि यह मुश्किल होगा. पहले हाफ में तो गेम पर हमारा नियंत्रण था और हमने उन्हें कोई मौके नहीं दिए. खुद के लिए कई मौके तैयार किए. लेकिन दूसरे हाफ में हम थोड़े से ढीले हो गए थे. स्कॉटलैंड ने गोल कर दिया. लेकिन हमने अच्छी प्रतिक्रिया दी."

इसके अलावा अन्य मैचों में आयरलैंड ने तिबलिसी में जॉर्जिया को 2-1 से हराया. मैक गिडी की वजह से आयरलैंड को ये जीत मिली. कप्तान रॉबी कैने ने मैक गिडी की तारीफ में कहा, "अगर आप इस तरह का कोई गोल करते हैं तो आपको मैच जीतना ही है. अगर किसी और ने ये किया होता, किसी बड़े खिलाड़ी ने तो आप इसके बारे में बहुत दिनों तक बात करते रहते. उनके अलावा मैदान पर कोई और इसे नहीं कर सकता था."

ग्रुप के अन्य मैच में पोलैंज ने जिब्राल्टर को 7-0 से धो दिया.

वैसे तो तीन अंकों से जर्मनी के कोच लोएव खुश हैं लेकिन वह ये भी जानते हैं कि आयरलैंड जैसी टीम से जीतने में उन्हें कितनी मेहनत करनी पड़ी है. टीम के कई खिलाड़ी चोटिल हैं. अगले महीने आयरलैंड का मैच जिब्राल्टर और जर्मनी से होना है.

एएम/ओएसजे (एएफपी, डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री