पुरुष नेता को लताड़ने पर सराहना | दुनिया | DW | 08.11.2012
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

पुरुष नेता को लताड़ने पर सराहना

महिला विरोधी सांसद को कड़ी लताड़ लगाने वाली ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री को अंतरराष्ट्रीय मंच पर तारीफें मिली. सख्त रुख की वजह से जूलिया गिलार्ड को अगले साल होने वाले चुनावों में कामयाबी भी मिल सकती है.

ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री जूलिया गिलार्ड ने कहा कि महिला विरोधी बयान के खिलाफ उन्होंने जिस ढंग से अपनी बात रखी, उसकी तारीफ कई देशों ने नेताओं की. लाओस में एशिया-यूरोप सम्मेलन से लौटने के बाद गिलार्ड ने कहा, "फ्रांस के राष्ट्रपति ने भाषण के लिए मेरी तारीफ की, डेनमार्क के प्रधानमंत्री और कुछ अन्य नेताओं ने भी ऐसा ही किया. जब मैं सामान्य रूप से इधर उधर जा रही थीं, तो उन्होंने मुझसे अपनी राय साझा की."

Kevin Rudd Außenminister Australien und Julia Gillard Premierministerin

पूर्व प्रधानमंत्री केविन रड के साथ गिलार्ड. रड अभी विदेश मंत्री हैं.

प्रधानमंत्री का गुस्सा अब भी ठंडा नहीं हुआ है. वह कहती हैं, "विपरीत लिंग के प्रति भेदभाव और महिला द्वेष पर उन्हें किसी पुरुष की नसीहत नहीं चाहिए. बहुत हुआ. ऑस्ट्रेलिया की महिलाओं ने बहुत बर्दाश्त कर लिया है. अब अगर किसी ने ऐसी बात की तो मैं उन्हीं के अंदाज में जबाव दूंगी."

पिछले महीने ही संसद के भीतर कड़े गुस्से में गिलार्ड ने नेता विपक्ष टोनी एबॉट को फटकार भी लगाई. एबॉट पिछले कुछ वर्षों से जूलिया गिलार्ड पर व्यक्तिगत हमले कर रहे थे. हाल ही में एबॉट ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया में बच्चों के लिए नीति बच्चा रहित प्रधानमंत्री कैसे बना सकती हैं.

कुछ मौकों पर एबॉट ने गिलार्ड को 'सेक्सी प्रतिद्वंद्वी' कहा. प्रधानमंत्री को 'चुड़ैल' की संज्ञा भी दी. इससे आहत गिलार्ड ने संसद में कहा कि अगर नेता विपक्ष में शर्म है तो वह इस्तीफा लिखना शुरू कर दें. गिलार्ड ने एबॉट के बयानों को महिला विरोधी भी बताया. ऑस्ट्रेलिया में इस पर बहस भी शुरू हो गई. बढ़ते दबाव के बीच एबॉट ने अपने बयानों के माफी मांगी.

ऑस्ट्रेलिया में अगले साल चुनाव होने हैं. अल्पमत में चल रही गिलार्ड सरकार की लोकप्रियता में बीते एक साल में भारी गिरावट आई है. लेकिन इस मुद्दे से विपक्ष ने अपने पैर पर कुल्हाड़ी मारने जैसा काम किया है. सिडनी मार्केट रिसर्च न्यूपोल के मुताबिक 45 फीसदी ऑस्ट्रेलियाई मानते हैं कि गिलार्ड के प्रति एबॉट का व्यवहार लिंग विरोधी है. 39 फीसदी इससे इनकार करते हैं. गिलार्ड के पलटवार के बाद हुए सर्वेक्षणों में प्रधानमंत्री की लोकप्रियता में इजाफा हुआ है.

गिलार्ड और एबॉट दोनों इंग्लैंड में पैदा हुए हैं. 51 साल की गिलार्ड जून 2010 से ऑस्ट्रेलिया की प्रधानमंत्री है. प्रधानमंत्री बनने के बाद से आए दिन प्रेस और विरोधी गिलार्ड के अतीत की बातें दोहराने लगते हैं.

ओएसजे/एएम (एएफपी, एपी)

DW.COM

WWW-Links