1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

पुतिन विरोधी खोदोरकोव्स्की जेल से रिहा

रूस में क्रेमलिन के आलोचक मिखाइल खोदोरकोव्स्की को दस साल की कैद के बाद रिहा कर दिया गया है. इसके पहले गुरुवार को राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने उन्हें क्षमादान दे दिया था.

रूस की कुख्यात जेलों में दस साल की कैद काटने के बाद पूर्व बिजनेस टायकून खोदोरकोव्स्की फिर से आजाद हैं. समाचार एजेंसी इंटरफैक्स ने सुरक्षा अधिकारियों के हवाले से बताया है कि खोदोरकोव्स्की को शुक्रवार को कारेलीन की जेल से रिहा कर दिया गया.

इस बीच टुकड़े टुकड़े कर दी गई तेल कंपनी यूकोस के मालिक खोदोरकोव्स्की को 2003 में टैक्सचोरी के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया था और दो साल बाद उन्हें और उनके कारोबारी पार्टनर प्लाटोन लेबेदेव को धोखाधड़ी और करचोरी के लिए लंबी कैद की सजा सुनाई गई. मामला शुरू होने के पहले खोदोरकोव्स्की ने खुलेआम विपक्ष में होने की घोषणा की थी.

इसके अलावा उस समय रूस के सबसे धनी व्यक्ति समझे जाने वाले खोदोरकोव्स्की अपनी कंपनी के लिए चीन तक तेल पाइपलाइन बिछाना चाहते थे, जो सरकारी कंपनियों के प्रभाव को चुनौती देती और उनके कारोबार को नुकसान पहुंचाती. उनके खिलाफ मुकदमे को पश्चिमी दुनिया में राजनीति प्रेरित बताया गया था.

रूसी अखबार कोमेरसांट ने गोपनीय सूत्रों के हवाले से लिखा है कि दिसंबर की शुरुआत में खुफिया एजेंटों की खोदोरकोव्स्की के साथ बातचीत हुई थी, जिसमें कोई वकील मौजूद नहीं था. इस भेंट में उन्हें बताया गया कि कैंसर से बीमार उनकी मां की हालत बिगड़ गई है और उनके खिलाफ एक तीसरा मुकदमा होने की संभावना है. इसके बाद अब तक क्षमा मांगने से इंकार कर रहे खोदोरकोव्स्की ने राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को पत्र लिखा.

खोदोरकोव्स्की के वकील और उनकी मां ने गुरुवार को क्षमादान की घोषणा के बाद कहा कि उन्हें क्षमा याचिका के बारे में कुछ पता नहीं था, जिसका उल्लेख पुतिन ने अपने प्रेस कॉन्फ्रेंस में किया था. खोदोरकोव्स्की अब तक क्षमा मांगने से इसलिए इंकार कर रहे थे क्योंकि इसका मतलब अपराध स्वीकार करने जैसा होता.

एमजे/एमजी (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री