1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

पुंछ पर जुबानी जंग

नेताओं के बयान पर बयान आ रहे हैं, सेना के कमांडरों ने बात कर ली है लेकिन अब तक साफ नहीं कि हमला पाकिस्तानी सेना ने किया या आतंकवादियों ने. इस बीच पाकिस्तान ने भारत पर गोलीबारी का आरोप लगाया है.

बुधवार को पाकिस्तान और भारत के सैन्य कमांडरों ने हॉटलाइन पर बात की. एक दिन पहले भारत ने कश्मीर में पांच सैनिकों की मौत के लिए पाकिस्तानी सैनिकों पर आरोप लगाया है. पाकिस्तान ने हमले के आरोप से इनकार किया है लेकिन भारत ने आधिकारिक तौर पर विरोध जताया है. 2003 में दोनों देशों के बीच युद्ध विराम समझौते के बाद पहली बार सीमा पर इतनी बड़ी घटना हुई है. हालांकि जनवरी में भी दो भारतीयों जवानों की मौत के बाद दोनों देशों की सेनाओं के बीच एलओसी पर खूब गोलीबारी हुई.

पाकिस्तानी सेना से जुड़े एक सूत्र ने समाचार एजेंसी एएफपी को बताया कि दोनों देशों के मिलिट्री ऑपरेशनों के महानिदेशकों के बीच युद्ध विराम के कथित उल्लंघन पर बात हुई है. सूत्र ने बताया, "एक विशेष हॉटलाइन संपर्क आज सुबह भारत और पाकिस्तान के डीजीएमओ के बीच जोड़ा गया जिससे कि वो नियंत्रण रेखा पर भारत के आरोपों पर चर्चा कर सकें." सूत्र ने यह भी बताया कि पाकिस्तान ने इस घटना में शामिल होने के आरोपों पर "सख्ती से इनकार" किया और "कड़ी आपत्ति" जताई है. पाकिस्तानी सैन्य कमांडर ने 10 साल पुराने युद्धविराम पर अपनी ओर से पूरी प्रतिबद्धता दोहराई है. इस बीच पाकिस्तान की सेना ने बुधवार को पांडु सेक्टर में भारत की ओर से कथित गोलीबारी पर विरोध जताया है. पाकिस्तान की सेना के मुताबिक इस गोलीबारी में दो पाकिस्तानी सैनिक घायल हुए हैं.

A.K. Anthony

भारत में विपक्षी दलों की तरफ से हमला झेल रही भारत सरकार ने कहा है कि नियंत्रण रेखा का उल्लंघन सहन नहीं किया जाएगा. संसद के दोनों सदनों में इस मामले पर रक्षा मंत्री और सेना के अलग अलग बयानों को लेकर जोरदार हंगामा हुआ. प्रमुख विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी ने रक्षा मंत्री से इस मामले में माफी मांगने को कहा है.

इस बीच संसदीय कार्य मंत्री राजीव शुक्ला ने संसद के बाहर पत्रकारों से कहा, "रक्षा मंत्री ने सदन में बहुत साफ बयान दिया है. अब सेना प्रमुख मौके पर गए हैं और जो कुछ भी जानकारी मिलेगी वह देश को दी जाएगी. नियंत्रण रेखा का उल्लंघन सहन नहीं किया जाएगा." राजीव शुक्ला ने बीजेपी पर इस मामले का राजनीतिक लाभ लेने का आरोप लगाया. शुक्ला ने कहा, "उनके (एनडीए) समय में संसद पर हमला हुआ तो उन्होंने क्या किया?"

जवाब में बीजेपी नेता प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है, "यह एनडीए बनाम यूपीए नहीं है. यहां मामला यह है कि जो कुछ सीमा पर हुआ वह संसद में नहीं बताया जा रहा. वास्तव में रक्षा मंत्री ने पाकिस्तान सरकार को बचने का रास्ता दे दिया है, और मुद्दा यह है."

इस घटना के बाद से दोनों देशों के बीच संबंधों को सुधारने को लेकर होने वाली बातचीत पर सवाल उठ रहे हैं. हालांकि कांग्रेस प्रवक्ता पीसी चाको ने इस बात की पुष्टि की है कि नवाज शरीफ और मनमोहन सिंह के बीच प्रस्तावित मुलाकात होगी और इस दौरान युद्ध विराम के उल्लंघन पर चर्चा होगी. दोनों नेता सितंबर में संयुक्त राष्ट्र की आमसभा के दौरान अलग से मुलाकात करेंगे. (शरीफ पर उम्मीद लगाए कश्मीर)

एनआर/एएम (पीटीआई, डीपीए, एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री