1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

पीसीबी ने आईसीसी पर मुकदमे की धमकी दी

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने कहा है कि फिक्सिंग मामले में पाकिस्तानी खिलाड़ी निर्दोष पाए गए तो वह आईसीसी पर मुकदमा कर सकता है. आईसीसी की भ्रष्टाचार विरोधी व सुरक्षा यूनिट जिस तरह मामले से निपट रही है, उससे पीसीबी नाराज है.

default

पाकिस्तान के तीन खिलाड़ियों सलमान बट, मोहम्मद आसिफ और मोहम्मद आमेर पर स्पॉट फिक्सिंग में शामिल होने के आरोप लगे हैं. पीसीबी के वरिष्ठ कानूनी सलाहकार तालिब रिजवी ने कहा, "मैं एक बात साफ कर देना चाहता हूं कि अगर हमारे खिलाड़ी निर्दोष पाए गए तो पीसीबी आईसीसी और अन्य संस्थाओं के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेगी. हम मानते हैं कि आईसीसी ने पाकिस्तानी खिलाड़ियों को सस्पेंड करने के मामले में अपने ही नियमों की अनदेखी की है."

रिजवी ने बताया कि अभी पाकिस्तानी के आरोपी खिलाड़ियों के खिलाफ कोई आपराधिक मुकदमा नहीं चल रहा है. वह कहते हैं, "अभी सिर्फ शुरुआती छानबीन हो रही है. इससे ज्यादा कुछ नहीं है. उनसे पूछताछ हो रही है. कोई जांच नहीं हो रही है." रिजवी के मुताबिक अभी तक आईसीसी ने आरोपी खिलाड़ियों के खिलाफ कोई सबूत नहीं पेश किया है. वह कहते हैं, "आज भी जब प्रेस कांफ्रेस में आईसीसी की भ्रष्टाचार विरोधी और सुरक्षा यूनिट से सबूत मांगे गए तो उन्होंने कुछ नहीं बताया. इसलिए हम अपने खिलाड़ियों को सस्पेंड करने की वजह जानना चाहते हैं."

तालिब के बेटे तफज्जुल रिजवी बोर्ड के कानूनी सलाहकारों में शामिल हैं जो इस वक्त लंदन में इस मामले में स्कॉटलैंड यार्ड की छानबीन पर नजदीक से नजर रखे हुए हैं. वह पूछताछ के लिए बुलाए गए तीनों पाकिस्तानी खिलाड़ियों के साथ किलबर्न पुलिस स्टेशन में भी गए.

पीसीबी के सूत्रों का कहना है कि तफज्जुल रिजवी को अभी आईसीसी ने ऐसे कोई सबूत नहीं दिए हैं जिनके आधार पर पाकिस्तानी खिलाड़ियों को निलंबित किया गया.

तालिब का कहना है कि यह कहना अभी जल्दबाजी होगी कि छानबीन कब पूरी होगी और कब स्कॉटलैंड यार्ड अपनी विस्तृत रिपोर्ट देगी. वह कहते हैं, "हम समझते हैं कि इन हालात में हमारे खिलाड़ियों को सस्पेंड किया जाना थोड़ा सख्त फैसला है."

उधर स्टिंग ऑपरेशन के जरिए पाकिस्तानी खिलाड़ियों को फिक्सिंग में शामिल बताने वाले ब्रिटिश अख़बार न्यूज ऑफ द वर्ल्ड ने कहा है कि वह इस मामले से जुड़ी कुछ और जानकारियां आने वाले दिनों में देगा. एक सूत्र के मुताबिक, "शुक्रवार को लंबी पूछताछ के बाद पाकिस्तानी खिलाड़ियों को छोड़ दिया गया. अभी उन पर कोई आरोप तय नहीं किए गए हैं. लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि मामला खत्म होने जा रहा है."

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः वी कुमार

DW.COM

WWW-Links