1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

पीपली लाइव सर्वश्रेष्ठ फिल्म घोषित

आमिर खान की फिल्म पीपली लाइव अभी रिलीज भले ही न हुई हो लेकिन इसने पुरस्कार पाना शुरू कर दिया है. दक्षिण अफ्रीका के डरबन फिल्म फेस्टिवल में इसे बेस्ट फीचर फिल्म के अवॉर्ड से नवाजा गया.

default

आमिर खान खुश हुए

अनुषा रिजवी ने पहली बार कोई फिल्म लिखी और निर्देशित की है. पीपली लाइव में किसानों की आत्महत्या और उसकी रिपोर्टिंग को लेकर मीडिया की दीवानगी का बेहद व्यंग्यात्मक तरीके से बखान किया गया है.

फिल्म को पुरस्कार मिलने के बाद आमिर खान ने मुंबई में कहा, "दक्षिण अफ्रीका हमेशा से मेरे लिए लकी रहा है. मैं उम्मीद करता हूं कि पीपली लाइव की वजह से भी दक्षिण अफ्रीका मेरे लिए भाग्यशाली साबित होगा." आमिर खान की फिल्म लगान का प्रीमियर भी दक्षिण अफ्रीका में हुआ था और बाद में यह फिल्म ऑस्कर की रेस में शामिल हुई थी.

Der indische Schauspieler Aamir Khan erhält Indiens renommierte Auszeichnung

कभी कभी लेते हैं पुरस्कार

आमिर ने कहा, "सभी फिल्म समारोहों में पीपली लाइव को गर्मजोशी से अपनाया गया है. यह सनडेन्स फिल्म फेस्टिवल में भी जा चुकी है और वहां पहली भारतीय फिल्म बनी, जिसे पुरस्कारों की होड़ में शामिल किया गया. इसके बाद हम बर्लिन फिल्म फेस्टिवल में गए और फिर ब्रिटेन. इसके बाद डरबन फिल्म फेस्टिवल में हमने पुरस्कार जीता."

दुनिया भर के फिल्म निर्देशकों की फिल्म 31वें डरबन फिल्म फेस्टिवल में दिखाई गई. आम तौर पर 45 साल के आमिर खान भारतीय फिल्म समारोहों में नहीं जाते और यहां तक कि उनकी फिल्मों को पुरस्कार मिलने पर भी वह रिसीव नहीं करते. लेकिन डरबन का पुरस्कार मिलने के बाद वह खुश हैं. आमिर का कहना है, "मुझे आज सचमुच शानदार खबर मिली है. ऐसे जूरी से पुरस्कार पाना बहुत खुशी की बात है. यह पूरी टीम के लिए खुशी की बात है कि हमने पुरस्कार पाया है."

डरबन फिल्म फेस्टिवल में जापानी फिल्म निर्देशक अयहारा हिरोमी, जर्मनी के क्रिस्टोफ थोके और दक्षिण अफ्रीका अकादमी के लेखक और प्रोड्यूसर बेकीजीजवे पीटरसन शामिल थे. आमिर का कहना है, "यह पुरस्कार अलग है. इसमें वे लोग शामिल हैं, जो फिल्मकार हैं. इसका अलग महत्व है."

आमिर खान को बॉलीवुड में मौजूदा वक्त का सबसे परफेक्ट फिल्मकार माना जाता है. वह साल में मुश्किल से एक या दो फिल्में ही करते हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links