1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

पिता पुत्र मामला: एनडी तिवारी का डीएनए टेस्ट होगा

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता नारायण दत्त तिवारी की डीएनए जांच की जाएगी. दिल्ली हाईकोर्ट ने यह आदेश दिया है. एक युवक ने दावा किया है कि एनडी तिवारी उनके पिता हैं. तिवारी इससे इनकार करते हैं. अब दूध का दूध, पानी का पानी होगा.

default

राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिला के साथ तिवारी

दिल्ली हाई कोर्ट ने एनडी तिवारी की याचिका को खारिज करते हुए उनकी डीएनए जांच के आदेश दिए. जस्टिस एस रवींद्र भाट ने कहा, ''यह बात अति आवश्यक है कि वैज्ञानिक जांच के लिए तिवारी अपने खून के नमूने दें.''

यूपी और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रह चुके एनडी तिवारी ने डीएनए टेस्ट कराए जाने के खिलाफ याचिका दायर की थी. दरअसल रोहित शेखर नाम के युवक ने दावा किया है कि आंध्र प्रदेश के पूर्व राज्यपाल तिवारी उसके पिता हैं. रोहित का कहना है कि वह एनडी तिवारी का जैविक पुत्र है. एनडी इससे इनकार करते हैं.

अदालत ने कह चुकी है कि, ''एक बच्चे के लिए यह अच्छी बात नहीं है कि समाज में उसे अवैध संतान माना जाए.'' रोहित का दावा है कि तिवारी ने उनकी मां उज्ज्वला शेखर के साथ संबंध बनाए लेकिन अब एनडी इससे इनकार करते हैं. खुद उज्ज्वला कहती हैं कि तिवारी के इनकार के कारण ही रोहित को अदालत का दरवाजा खटखटाना पड़ा.

कभी कांग्रेस के बड़े नेता माने जाने वाले एनडी तिवारी अपने रंगीले मिजाज के लिए मशहूर हैं. इस साल एक विवादित सीडी में उन्हें एक युवती के साथ आपत्तिजनक अवस्था में दिखाया गया था, जिसके चलते तिवारी को आंध्र प्रदेश के राज्यपाल के पद से इस्तीफा देना पड़ा. वैसे उत्तराखंड में तिवारी की रंगीन मिजाजी पर कटाक्ष करने वाले लोकगीत काफी समय से चलते रहे हैं.

रिपोर्ट: पीटीआई/ओ सिंह

संपादन: ए कुमार

DW.COM

WWW-Links