1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

पिता ने बेची बेटी, मां के पास वापस पहुंची

बांग्लादेश के चटगांव में नशे के लती एक पिता ने अपनी ही बेटी को बेच दिया. लेकिन मां की कोशिशों के बाद बेटी उसे वापस मिल गयी.

बांग्लादेश की एक मां खुशी से चहक रही है क्योंकि उसकी बेटी उसे वापस मिल गयी है. कुछ समय पहले महिला के पति ने अपनी ही बेटी को बेच दिया था. पिता नशे का आदी है.

दस माह की बच्ची को उसके पिता ने एक बिना बच्चे वाले दंपति को बेच दिया. बेटी की मां नुसरत जहां ने कहा, "मैं बहुत खुश हूं कि मुझे मेरी बेटी वापस मिल गयी है. उसे मेरी गोद से छीना गया था. मैं इतने महीनों सो नहीं पायी."

अपनी बेटी के गायब होने पर नुसरत को अपने पति पर शक हुआ था और उन्होंने अप्रैल महीने में अपने पति के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी. महिला का पति मेथाम्फेटामाइन का लती है. उस पर आरोप है कि उसने चटगांव  में अपने घर से बेटी चुरायी. पति को गिरफ्तार कर लिया गया है और उस पर बच्चे के अपहरण और बेचने का मामला दर्ज कर लिया गया है.

कोर्ट ने बेटी को मां को लौटने का फैसला सुनाया और बेटी मां को सौंप दी गयी. कोर्ट के क्लर्क मोहम्मद यूसुफ ने कहा कि कोर्ट में बहुत ही भावुक कर देने वाले दृश्य थे. बेटी को गोद ली हुई मां से अलग कर उसकी असली मां को सौंप दिया गया. लेकिन क्योंकि बच्ची काफी वक्त नए माता पिता के पास रह रही थी इसलिए वह अपनी ही मां के पास जाने को राजी नहीं हो रही थी. जैसे ही बच्ची को सौंपा गया, वैसे ही बच्ची और मां फूट कर रोने लगे.

बच्ची की 20 वर्षीय मां ने कहा कि जिस दंपति ने बच्ची को गोद लिया था वह कभी भी आकर उससे मिल सकते हैं. उसने उनसे कहा, "मेरे दरवाजे हमेशा खुले हैं." 

हाल ही के सालों में बांग्लादेश में ड्रग का सेवन बहुत अधिक मात्रा में बढ़ गया है. और सबसे गंभीर बात यह है कि किशोर इसके दलदल में फंस रहे हैं. विशेषज्ञ कहते हैं कि लाखों लोग नशे के गिरफ्त में हैं. बांग्लादेश में सबसे ज्यादा सेवन मेथाम्फेटामाइन और कैफेन का किया जाता है, जो दक्षिण एशिया के कई देशों से तस्करी से जरिए लाया जाता है.

एसएस/ओएसजे (एएफपी)

 

संबंधित सामग्री