पिकासो की पेंटिंग ने बनाया विश्व रिकार्ड | मनोरंजन | DW | 12.05.2015
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

पिकासो की पेंटिंग ने बनाया विश्व रिकार्ड

महान चित्रकार पाब्लो पिकासो की वर्ष 1955 में बनाई गयी ऑयल पेंटिंग ने नया विश्व रिकार्ड बनाया है. लगभग 18 करोड़ डॉलर के साथ यह दुनिया की सबसे महंगी बिकने वाली पेंटिंग बन गयी है.

फाइन आर्ट ऑक्शन हाउस क्रिस्टीज ने पिकासो की 'वुमेन ऑफ अल्जीयर्स' पेंटिंग की बोली की रकम के लिए 14 करोड़ डॉलर का पूर्वानुमान लगाया था लेकिन इसके लिए आखिरी नीलामी लगभग 18 करोड़ डॉलर की लगायी गयी. नीलामी की यह प्रक्रिया 11 मिनट तक चली और इसमें 35 देशों के लोगों ने बोली लगायी. इस पेंटिंग को खरीदने वाले व्यक्ति की पहचान नहीं हो सकी है.

इससे पहले एक ब्रिटिश चित्रकार फ्रांसिस बैकन की कृति 'थ्री स्टडीज ऑफ ल्युसियन फ्रॉयड' ने नीलामी में विश्व रिकॉर्ड बनाया था. नवंबर 2013 में यह पेंटिंग करीब 14.2 करोड़ डॉलर में बिकी थी.

एक खास शैली की इस रंगीन पेंटिंग में हरम का एक दृश्य है. इस पेंटिंग को पिकासो ने 1955 में बनाया था जो उनकी 15 पेंटिंगों की एक श्रृंखला का हिस्सा है. नीलामी के बारे में क्रिस्टीज ग्लोबल के अध्यक्ष जुस्सी पिलकानेन ने कहा, "यह देखकर खुशी हो रही है कि इस पेंटिंग के लिए इतनी ज्यादा बोली लगायी गयी."

इसी नीलामी के दौरान स्विट्जरलैंड के कलाकार अलबर्टो जैकोमेट्टी की बनाई कांसे की मूर्ति 'प्वाइंटिंग मैन' दुनिया की सबसे महंगी मूर्ति बनी. यह 14 करोड़ डॉलर में नीलाम हुई.

एमजे/आईबी (रॉयटर्स)

DW.COM