1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

पार पा लेंगे मिचेल के हमलों सेः पीटरसन

पर्थ में इंग्लैंड की हार तय करने में ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज मिचेल जॉन्सन की तेज तर्रार गेंदों ने अहम भूमिका निभाई. लेकिन इंग्लैंड के बल्लेबाज पीटरसन का कहना कि अगले टेस्ट में टीम उनकी गेंदों का सामना करने के लिए तैयार है.

default

देख लेंगे गेंदबाजी कोः पीटरसन

पर्थ में मिचेल की गेंद पर एलबीडबल्यू हुए इंग्लैंड के बल्लेबाज केविन पीटरसन का कहना है कि पर्थ का जादू मेलबर्न में नहीं चल सकेगा. केविन ने कहा, "हम उनकी गेंदबाजी पर अवाक थे. निश्चित ही. लेकिन उन्होंने अच्छी, बहुत ही अच्छी, शानदार गेंदबाजी की. हम खुद को इस तरह की स्विंग के लिए तैयार रखेंगे. हम यह तो जानते थे कि वह गेंद स्विंग करेंगे लेकिन उसमें इतनी स्विंग होगी, यह हमें नहीं लगा था."

पर्थ के टेस्ट में जॉन्सन ने इंग्लैंड के टॉप ऑर्डर को पहली ही पारी में ध्वस्त कर दिया. मिचेल जॉन्सन ने छह विकेट चटकाए. और इस धुआंधार बॉलिंग के कारण ऑस्ट्रेलिया 267 रनों से जीत गई और पांच मैचों वाली प्रतिष्ठित एशेज सीरीज का स्कोर 1-1 से बराबर हो गया.

Mitchell Johnson

जॉन्सन का कमाल

जॉन्सन ने कहा कि उन्हें पीटरसन का विकेट लेने में मजा आया. जॉन्सन ने उन्हें स्मार्ट बेवकूफ करार दिया क्योंकि मिचेल ने 'दोस्ती बढ़ाने' के लिए उनसे उनका फोन नंबर मांगा. जॉन्सन ने नंबर देने से तो इनकार कर ही दिया और सफाई दी, "मेरी मिचेल जॉन्सन के साथ कोई दोस्ती नहीं है."

ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाजों ने कहा कि पर्थ में उनका अच्छा प्रदर्शन गुस्से और आक्रामकता के कारण रहा. कई बल्लेबाजों के साथ उन्होंने आक्रामक शब्दों का इस्तेमाल किया और तेज शॉर्ट पिच गेंदे फेंकी.

हालांकि पीटरसन ने इस बात से इनकार किया कि शाब्दिक हमलों के कारण टीम अस्थिर हुई. पीटरसन का कहना था कि शेन वॉर्न और ग्लेन मेकग्रा के समय में उन्हें ज्यादा बुरे शब्दों का सामना करना पड़ता था. वह कहते हैं, "यह ऐतिहासिक है, बड़ा है, लेकिन ऐसा कुछ नहीं है कि यह एक सीमा से बाहर का हो. अगर ऐसा होगा तो मैच रेफरी मामले को देखेंगे."

पीटरसन ने पिच के चयन के बारे में किसी विवाद से इनकार किया है. चौथा टेस्ट मैच भी ऐसे मैदान पर है जहां कि पिच पर घास है. इंग्लिश की मीडिया का कहना है कि जानबूझकर ऐसी पिचों का इस्तेमाल किया गया है जो कि ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजी को सपोर्ट करती हैं. पीटरसन का कहना है, "निश्चित ही वह ऐसा करेंगे. उन्हें पर्थ में बाउंस होने वाले विकेट पर सफलता मिली ही थी लेकिन हमें दुनिया भर के उछाल लेने वाली पिचों पर सफलता मिली है. हमने टेस्ट मैच आधे घंटे में खोया जब हमने 20 रनों में पांच विकेट खो दिए. इसलिए हम मैच हारे."

रिपोर्टः एजेंसियां/आभा एम

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links