1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

पार्टी कांग्रेस में ग्रीक प्रधानमंत्री का इम्तिहान

ग्रीस में सत्तारूढ़ वामपंथी सीरिजा पार्टी की कांग्रेस हो रही है. प्रधानमंत्री अलेक्सिस सिप्रास अपनी सीरिजा पार्टी को वफादार लोकप्रिय पार्टी में बदलना चाहते हैं."

प्रधानमंत्री सिप्रास ने फरवरी 2015 में अपने पार्टी कॉमरेडों से कहा था, "हम सरकार चलाने की अपनी क्षमता पर तौले जाएंगे." यह सरकार में आने में कुछ हफ्ते पहले की बात है और युवा सरकार प्रमुख को गंभीर नाकामियां झेलनी पड़ी है. कर्ज माफी के बदले उन्हें दाताओं के साथ किए गए कर्ज के समझौते को बढ़ाना पड़ा. पार्टियों के असंतुष्टों ने विद्रोह किया, 2015 की गर्मियों में पार्टी का विभाजन हो गया. पार्टी का वामपंथी धड़ा अलग हो गया, यूरोपीय संघ की बचत मांगों के खिलाफ संघर्ष समिति बनाने की धमकी दी, उसके बाद हुए मध्यावधि चुनावों में भाग्य आजमाया और हार कर गुमनामी में खो गए. तब से सीरिजा पार्टी में बदलाव हो रहे हैं. पार्टी कांग्रेस को पिछले महीनों में लगातार टाला जाता रहा है.

अब वो घड़ी आ गई है. गुरुवार शाम को सारे देश से आए 3,300 प्रतिनिधि चार दिनों तक पिरेउस में पार्टी की स्थिति पर चर्चा करेंगे. कांग्रेस के शुरू में सिप्रास अपने भाषण के साथ पार्टी सदस्यों को अपनी लाइन पर लाने की कोशिश करेंगे. लेकिन यह आसान नहीं होगा. पत्रकार निकोलास वुलेलिस बताते हैं, "सीरिजा पार्टी यूरोप की अनोखी पार्टी है. वह बहुत सी धाराओं से मिलकर बनी है और यही उसकी खासियत है, लेकिन कमजोरी भी." देश विदेश में की जा रही उम्मीदों के विपरीत इस कांग्रेस में भी सीरिजा पार्टी सोशल डेमोक्रैटिक सिद्धांतों के करीब नहीं जाएगी, बल्किन अपने सिद्धांतों की वफादार बनी रहेगी. लेकिन अत्यंत अलोकप्रिय बचत नीति के साथ इस सिद्धांत का सामंजस्य कैसे होगा? बुलेलिस का मानना है कि बचत के कदम सीरिजा के लिए हार थे लेकिन सरकार की नीति के अलावा देश में वामपंथी एजेंडा भी है. और इसमें पार्टी को अगुआ भूमिका निभानी है.

जुलाई 2015 में बचत कदमों के साथ सहमत होने से पहले सिप्रास ने कमजोर वर्ग के लोगों के लिए एक समांतर वामपंथी कार्यक्रम का भरोसा दिलाया था. राजनीतिशास्त्री लेवटेरिस कुसूलिस का मानना है कि सिप्रास एकबार फिर रंग बदलने की अपनी क्षमता दिखाएंगे. सिप्रास अपनी सरकार की नीतियों से किनारा करेंगे और प्रतिनिधियों को भरोसा दिलाएंगे कि वे अपने वामपंथी अतीत और अपने सपनों को नहीं भूले हैं. "सरकार में पाप हो रहा है, लेकिन पार्टी के अंदर कॉमरेडों की आत्मा को बचाया जा रहा है." इसके अलावा सिप्रास ने पार्टी की संस्थाओं में व्यापक बहुमत का इंतजाम किया है. केंद्रीय समिति के सदस्यों की संख्या 201 से घटाकर 150 कर दी गई है. इनमें से सिर्फ 25 प्रतिशत सीटें सरकार, संसद या सरकारी संस्थानों में काम करने वाले सदस्यों को मिलेंगी.

यूरोपीय सांसद दिमित्रिस पापाडिमूलिस का मानना है, "सिप्रास को मजबूत जिम्मेदारी मिलेगी, वे भारी बहुमत से सीरिजा के प्रमुख चुने जाएंगे." इस समय "आंदोलन 53" पार्टी के अंदर महत्वपूर्ण विरोधी गुट माना जा रहा है. इसमें वे 53 राजनीतिज्ञ शामिल हैं जो बचत कदमों का समर्थन तो कर रहे हैं लेकिन एक लाइन खींचने की मांग कर रहे हैं. वित्त मंत्री युकलिद साकालोटोस इस दल के नेता है. हाल ही में उन्होंने यह कहकर खलबली मचा दी कि इस पर विचार होना चाहिए कि क्या ग्रीस आज के यूरोजोन में जीने की स्थिति में है. निकोलास वुलेलिस नहीं मानते कि आंदोलन 53 पार्टी के लिए कोई खतरा है. वे कहते हैं, "पार्टी सिप्रास के नियंत्रण में है."

सिप्रास के आत्मविश्वास की एक मिसाल कंजरवेटिव विपक्ष के खिलाफ उनका टोन भी है. वामपंथी प्रधानमंत्री सालों सत्ता में रहे अनुदारवादियों के साथ यह कहकर दूरी बना रहे हैं कि हम अच्छे हैं, तुम भ्रष्ट हो. सिप्रास ने संसद में भ्रष्टाचार पर हुई बहस में विपक्षी नेता किरियाकोस मित्सोटाकिस पर आरोप लगाया कि वे "सीमेंस की संतान हैं." उनका इशारा जर्मन कंपनी सीमेंस से जुड़े भ्रष्टाचार कांड की तरफ था, जिसके लिए वामपंथी प्रधानमंत्री दशकों तक शासन करने वाले कंजरवेटिव और सोशलिस्ट पार्टी के नेताओं को जिम्मेदार मानते हैं.

और भ्रष्टाचार के खिलाफ संघर्ष सीरिजा की पार्टी कांग्रेस में भी एक मुद्दा रहेगा. राजनीतिशास्त्री कुसूलिस कहते हैं कि प्रधानमंत्री अलेक्सिस सिप्रास अपनी भ्रष्टाचार विरोधी भूमिका पर फिर से जोर देंगे और पार्टी कांग्रेस के प्रतिनिधियों को इसके बारे में बताएंगे.

DW.COM

संबंधित सामग्री