1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

पायलट टॉयलेट में, ट्रेनी कॉकपिट में

भारत में एयर इंडिया के एक उड़ते विमान में पायलट को टॉयलेट जाना महंगा पड़ गया. वह जब लौटा, तो कॉकपिट का दरवाजा जाम हो गया और ट्रेनी पायलट ने किसी तरह विमान उतारा. यात्रियों ने राहत की सांस ली.

विमान राजधानी दिल्ली से बैंगलोर जा रहा था. लगभग तीन घंटे की उड़ान के दौरान पायलट को टॉयलेट जाने की जरूरत पड़ी. लेकिन जब वह फारिग होकर लौटा, तो उसकी घिग्घी बंध गई क्योंकि कॉकपिट का दरवाजा जाम हो गया था और वह अंदर नहीं जा पा रहा था.

जब दरवाजा खोलने की सारी कोशिश नाकाम हो गई तो कॉकपिट में मौजूद ट्रेनी पायलट ने इमरजेंसी लैंडिग का फैसला किया. नजदीकी भोपाल एयरपोर्ट पर विमान सुरक्षित उतार लिया गया.

एयर इंडिया की प्रवक्ता जीटा डीमैलियो ने बताया, "इस मामले की जांच शुरू कर दी गई है." एयरलाइन ने अलग से बयान जारी कर कहा, "पूरे मामले के दौरान सुरक्षा के सभी मानकों को अपनाया गया और यात्रियों या चालक दल के सदस्यों को किसी तरह का खतरा नहीं था."

भारत की सरकारी विमान सेवा में हाल के दिनों में कई गड़बड़ियां सामने आई हैं. पिछले महीने एक विमान के उड़ान भरते वक्त इसके ऑटो पायलट ने काम करना बंद कर दिया था. उस वक्त विमान का पायलट केबिन में नहीं था. इस मामले की जांच की जा रही है.

भारतीय मीडिया की रिपोर्टों के मुताबिक उड़ान के दौरान दोनों पायलटों ने 40 मिनट तक के लिए कॉकपिट छोड़ दिया और उन्होंने एयर होस्टेसों को विमान की उड़ान देखने का जिम्मा थमा दिया. इस दौरान दोनों पायलट बिजनेस क्लास की सीटों पर झपकी ले रहे थे.

इसी बीच एक एयर होस्टेस ने गलती से ऑटो पायलट ऑफ कर दिया, जिसके बाद गड़बड़ी देखते हुए पायलटों को उठाया गया. एयर इंडिया ने इस आरोप से इनकार किया है, हालांकि माना है कि एयर होस्टेसों ने जरूरत से ज्यादा वक्त कॉकपिट में बिताया.

एजेए/एएम (डीपीए)

DW.COM