1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

पाताल की पड़ताल

धरती और आसमान के अलावा इंसान पृथ्वी की गहराई में भी वैज्ञानिक खोज में लगा हुआ है. मध्य पूर्व में डेड सी या मृत सागर में इस दिशा में धरती के केंद्र तक पहुंचने के लिए एक अभियान शुरू किया गया है.

default

डेड सी का खारापन

शोधकर्ताओं के दल को उम्मीद है कि इसके जरिये वे इतिहास के पांच लाख साल तक के रहस्यों पर से पर्दा उठाते हुए जलवायु परिवर्तन और प्राकृतिक विपदाओं के कारणों के बारे में नई जानकारी हासिल कर सकेंगे. रविवार को उन्होंने डेड सी के बीचोंबीच धरती की खुदाई शुरू की है. लगभग दो महीने की खुदाई के बाद वे समुद्रतल से 1200 मीटर की गहराई तक पहुंचेंगे.

इस परियोजना के प्रधान इस्राएल की विज्ञान अकादमी के ज्वी बेन आयराहाम ने कहा कि डेड सी की धरती की परतें समूचे मध्य पूर्व में जलवायु और भूकंप के मापन के लिए सबसे अनुकूल हैं. यह स्थलीय क्षेत्र समुद्रतल से लगभग 420 मीटर की गहराई में है.. उन्होंने कहा कि यहां मिस्र के सिनाई रेगिस्तान से लेकर गोलन पहाड़ी तक के 42,000 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र से पानी पहुंचता है, जिसकी वजह से जलवायु के क्षेत्र में शोध के लिए इसका व्यापक इस्तेमाल संभव है. साथ ही यह धरती के दो महाद्वीपीय क्षेत्र के बीच की सीमा है, जहां भूगर्भ में काफी हलचल देखा जा सकता है. इस प्रकार भूकंप मापन के लिए भी यह एक महत्वपूर्ण क्षेत्र है.

जिस प्रकार पेड़ों पर छल्लियां होती हैं, उसी आकार में डेड सी के धरातल पर हर साल दो छल्लियां बनती हैं. बेन आयराहाम ने कहा कि उनकी टीम के शोधकर्ता पिछले पांच लाख सालों के दौरान बनी छल्लियों का अध्ययन करेंगे, जिससे भविष्य के विकास को समझने में भी मदद मिलेगी. वे अतीत में वर्षा, बाढ़, सूखे और भूकंपों का बारीक अध्ययन करेंगे और ग्लोबल वार्मिंग के चरित्र को समझने में इन जानकारियों का इस्तेमाल किया जाएगा.

डेड सी इस्राएल के अलावा फिलिस्तीनी क्षेत्र और जॉर्डन की सीमा में आता है. जिस इलाके में खुदाई हो रही है, वह इस्राएल की सीमा के अंदर है. बेन आयराहाम ने सूचित किया कि उनकी परियोजना में इस्रायल के अलावा जार्डन व फिलिस्तीन प्रशासन सहित सारी दुनिया के शोधकर्ता भाग ले रहे हैं.

खुदाई का काम अमेरिका के ऊटा प्रदेश की डोसेक नामक संस्था को सौंपा गया है. इस ऑपरेशन के लिए जिम्मेदार डोसेक के मैनेजर ब्यु मार्शल ने कहा कि उनकी टीम मीठे पानी के इलाके में पहले भी ऐसी खुदाई कर चुकी है, लेकिन डेड सी के खारे पानी में ऐसी खुदाई एक बड़ी चुनौती है, क्योंकि खारेपन की वजह से खुदाई के उपकरण काफी जल्दी नष्ट हो सकते हैं.

रिपोर्ट: एजेंसियां/उभ

संपादन: ए जमाल

DW.COM

WWW-Links