1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

पाक सेना चीफ ने कहा, गलतफहमी में न रहे भारत

तनाव के बीच पाकिस्तान के सेना प्रमुख राहील शरीफ ने भारत को चेतावनी दी कि उनका देश किसी भी हमले का भरपूर जबाव देगा.

गुरुवार को अपने एक भाषण में राहील शरीफ ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से कहा कि वह पाकिस्तान के बारे में भारत की तरफ से फैलाए जा रहे "झूठों" की निंदा करे. उन्होंने भारत को चेतावनी देते हुए कहा कि वो पाकिस्तान के खिलाफ किसी तरह की आक्रामक कार्रवाई करने के बारे में सोचे भी नहीं. उनके मुताबिक ऐसे किसी भी कदम का "मुहंतोड़ जबाव" दिया जाएगा. राहील शरीफ के मुताबिक पाकिस्तान ने आतंकवाद के खिलाफ युद्ध में जो कुर्बानियां दी हैं उनकी कोई मिसाल नहीं है.

पहले उड़ी हमला और उसके बाद भारत की तरफ से सर्जिकल स्ट्राइक के दावे के बाद से दोनों देशों में तनाव है. भारत का कहना है कि उसने अपने इस हमले में पाकिस्तानी कश्मीर में कई आतंकवादी ठिकानों को नष्ट कर दिया. हालांकि पाकिस्तान इससे इनकार करता है. पाकिस्तान का कहना है कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राजनीतिक फायदा हासिल करने के लिए झूठ फैला रहे हैं. राहील शरीफ ने कहा, "पाकिस्तान अपने सभी पड़ोसियों के साथ अच्छे रिश्ते चाहता है, लेकिन अपनी मातृभूमि की रक्षा के हमारे संकल्प को लेकर किसी को कोई गलतफहमी नहीं रहनी चाहिए."

दूसरी तरफ भारतीय सेना का कहना है कि उसने गुरुवार को उत्तरी कश्मीर में एक सैन्य ठिकाने पर एक हमले को नाकाम बना दिया है और तीन संदिग्ध चरमपंथियों को मार दिया है. पुलिस अधीक्षक गुलाम गिलानी ने कहा कि हमलावर कुपवाड़ा जिले में एक आर्मी बेस के पास बाग में छिपे थे और पुलिस के साथ उनकी झड़प हुई.

भारत का आरोप है कि पाकिस्तान कश्मीर घाटी में अशांति को हवा दे रहा है और सीमापार से घुसपैठ करा रहा है. पाकिस्तान इन आरोपों को खारिज करते हुए सिर्फ कश्मीर के लोगों को कूटनीतिक समर्थन देने की बात कहता है. दोनों पक्षों के बीच उड़ी में हुए हमले में भारत के 19 सैनिकों की मौत के बाद से तनाव बढ़ गया.

भारतीय सेना के एक प्रवक्ता का कहना है कि बुधवार की रात को भी नोगाम और रामपुर सेक्टरों में चरपंथियों ने नियंत्रण रेखा को पार घुसपैठ की कोशिश की लेकिन वो कामयाब नहीं हो सके. एक अन्य सैन्य अधिकारी ने कहा, "सैनिक चौकस थे और घुसपैठियों पर उन्होंने जैसे ही गोली चलाई तो वो पाकिस्तान की तरफ ही भाग गए. इसके बाद वहां खोज अभियान चलाया गया."

एके/वीके (एपी, रॉयटर्स)

DW.COM

संबंधित सामग्री