1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

पाक ने बाढ़ के लिए भारतीय मदद ली

लंबी ना नुकुर के बाद पाकिस्तान ने भारत की ओर से 50 लाख अमेरिकी डॉलर की मदद स्वीकार कर ली है. पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने इस बात का एलान किया. अमेरिका भी पाकिस्तान पर मदद लेने का दबाव बना चुका है.

default

करोड़ों लोग बाढ़ से प्रभावित

पाकिस्तान ने भारत के इस कदम की प्रशंसा करते हुए मदद स्वीकार कर ली. विदेश मंत्री कुरैशी न्यूयॉर्क में हैं, जहां वह बाढ़ से निपटने के लिए संयुक्त राष्ट्र की बैठक में हिस्सा लेने गए हैं. अमेरिका ने गुरुवार को ही पाकिस्तान से कहा था कि प्राकृतिक आपदाओं के समय राजनीति नहीं होनी चाहिए और पाकिस्तान को भारत की तरफ से प्रस्तावित मदद ले लेनी चाहिए.

भारत के विदेश मंत्री एसएम कृष्णा ने पिछले हफ्ते ही पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी से फोन पर बात की और 50 लाख डॉलर यानी लगभग 25 करोड़ रुपये की मदद की पेशकश की. पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय बिरादरी से बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए गुहार लगा रहा है लेकिन उसने भारत की मदद को नजरअंदाज कर दिया.

पाकिस्तान में 80 साल की सबसे भयंकर बाढ़ में 1,700 से ज्यादा लोग मारे गए हैं और दो करोड़ से ज्यादा बुरी तरह प्रभावित हो गए हैं. लाखों लोगों के लिए सिर छिपाने की जगह भी नहीं है.

इस बीच, भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भी गुरुवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी से फोन पर बात की और उनसे कहा कि भारत पहली खेप के बाद और मदद के लिए तैयार है. हालांकि इसके बाद भी पाकिस्तान ने मदद लेने में दिलचस्पी नहीं दिखाई. आखिरकार अमेरिकी दौरे के बीच पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने मदद लेने का एलान किया.

रिपोर्टः पीटीआई/ए जमाल

संपादनः ए कुमार

DW.COM