1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

पाक टीम चयन की संसदीय जांच

इंग्लैंड दौरे पर गई पाकिस्तानी टीम के चयन पर काफ़ी समय से अफ़वाहें सुनाई दे रही थीं, अब संसद के अवर सदन सेनेट की एक खेलकूद समिति इस बारे में जांच करेगी.

default

आलोचना के केंद्र में वकार यूनिस भी

सेनेट की खेलकूद समिति के अध्यक्ष अब्दुल गफ़्फ़र कुरैशी ने कहा है कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को अपने कामों का ब्योरा देना पड़ेगा. पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि उन्हें पता चला है कि टीम के चयन में नाइंसाफ़ी हुई है और इसकी जांच के लिए उन्होंने 9 जुलाई को इस्लामाबाद में एक बैठक बुलाई है, जहां क्रिकेट बोर्ड के अधिकारियों और चयनकर्ताओं को बुलाया गया है.

इस महीने के आरंभ में श्रीलंका में एशिया कप के दौरान टीम की घोषणा की गई थी. इस अवसर पर सिर्फ़ मुख्य चयनकर्ता मोहसिन खान, कोच वकार यूनिस, कप्तान शाहिद अफ़्रीदी और मैनेजर यावस सईद उपस्थित थे. पूर्व खिलाड़ियों के साथ-साथ उन चयनकर्ताओं ने भी इसकी कड़ी आलोचना की थी, जिन्हें इस प्रक्रिया में शामिल नहीं किया गया था.

इस सिलसिले में पूर्व कप्तान यूनिस खान को टीम से बाहर रखने के फ़ैसले पर सबसे अधिक ऐतराज़ किया जा रहा है. पीसीबी ने उन पर प्रतिबंध लगाया था, जिसके ख़िलाफ़ उन्होंने अपील की थी. बोर्ड के अध्यक्ष ईजाज़ बट्ट का कहना था कि यूनिस की वापसी के लिए बोर्ड की हरी झंडी चाहिए, लेकिन शोएब मलिक, शाहिद अफ़्रीदी और अकमल भाइयों के मामले में इस पैमाने को नज़रंदाज़ करते हुएउन्हें मा़फ़ कर दिया गया था और टीम में शामिल कर लिया गया. 17 सदस्यों की टीम में फ़ैसल इक़बाल, मिज़बा उल हक़ और मोहम्मद सामी को भी शामिल नहीं किया गया है.

पाकिस्तान को इंग्लैंड के साथ चार टेस्ट, दो ट्वेंटी20 और पांच वनडे मैच खेलने हैं.

रिपोर्ट: एजेंसियां/उभ

संपादन: राम यादव

संबंधित सामग्री