1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

पाकिस्तान में 26/11 मुकदमा दिखावाः पिल्लई

भारतीय गृह सचिव ने कहा है कि पाकिस्तान में मुंबई हमलों के जिम्मेदार लोगों पर चल रहा मुकदमा सिर्फ दिखावा है. एक इंटरव्यू में जीके पिल्लई ने कहा कि पाकिस्तान को डर है कि उसके कई अधिकारी भी इसके लपेटे में आ सकते हैं.

default

हमलों के दौरान ताज का नजारा

सोमवार को वॉल स्ट्रीट जनरल में छपे इंटरव्यू में पिल्लई ने कहा कि भारत ने मुंबई हमलों के लिए जिम्मेदार लोगों की पहचान के लिए पाकिस्तान को पर्याप्त सबूत दे दिए हैं. 26 नवंबर 2008 हो हुए इन हमलों में 166 लोगों की जानें गईं. हमलों से जुड़े सबूतों में सबसे अहम अमेरिका में पकड़े गए पाकिस्तानी मूल के लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादी डेविड हेडली से हुई पूछताछ का ब्यौरा है. हेडली ने अपना जुर्म कबूलते हुए बताया कि उसने हमलों की साजिश को तहत उन जगहों का दौरा किया जिन्हें निशाना बनाया गया.

पिल्लई ने कहा कि हेडली ने साजिश रचने वालों की आवाजों को पहचाना जिन्हें भारतीय खुफिया एजेंसियों ने इंटरसेप्ट किया और यह जानकारी पाकिस्तानी अधिकारियों को सौप दी गई है. वह कहते हैं, "मुझे नहीं लगता कि वे इस बारे में कुछ करेंगे." उन्होंने पाकिस्तान में मुंबई हमलों के सिलसिले में सात लोगों पर चल रहे मुकदमे को कोरा दिखावा बताया. पाकिस्तानी अधिकारी उन लोगों को अनदेखा कर रहे हैं जिन्होंने कंट्रोल रूम से हमलों का संचालन किया.

पिल्लई का आरोप है कि पाकिस्तान सरकार इसलिए हमलों की साजिश रचने वालों के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही है क्योंकि वे इसमें शामिल पाकिस्तानी सरकार के कुछ अधिकारियों के नामों का खुलासा कर देंगे. भारतीय गृह सचिव का कहना है, "वे कुछ कर ही नहीं सकते."

पाकिस्तान में हमलों के कथित मास्टरमाइंड जकीउर रहमान लखवी समेत सात लोगों पर मुकदमा चल रहा है, लेकिन किसी को अब तक दोषी नहीं करार दिया गया है. दरअसल मुकदमा रुक गया है क्योंकि पाकिस्तानी अधिकारी मुंबई हमलों के दौरान पकड़े गए इकलौते आतंकवादी अजमल आमिर कसब की गवाही की मांग कर रहे हैं जिससे भारत इनकार कर रहा है. पाकिस्तान हमलों के सिलसिले में जानकारी जुटाने के लिए अपना एक आयोग भारत भी भेजना चाहता है.

भारत इन सभी कदमों को मामला लटकाने के हथकंड़े मानता है. उसका कहना है कि पाकिस्तान को पर्याप्त सबूत सौंपे जा चुके हैं. लेकिन पाकिस्तान का कहना है कि अदालत में इन सबूतों को पेश नहीं किया जा सकता. मुंबई हमलों को दो साल पूरे होने के बाद भी परमाणु शक्ति संपन्न भारत और पाकिस्तान में रिश्ते तनावपूर्ण बने हुए हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः एस गौड़

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री