1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

पाकिस्तान में यूट्यूब पर पाबंदी हटी, पर आधी अधूरी

पाकिस्तान ने विडियो शेयरिंग वेबसाइट यूट्यूब पर पाबंदी हटा दी है लेकिन उसके सैकड़ों पेज नहीं खुलेंगे क्योंकि उनमें "ईशनिंदा" से जुड़ी सामग्री है. पैगंबर मोहम्मद के कार्टूनों पर विवाद के चलते लगी थी पाबंदी.

default

गुरुवार को पाकिस्तानी दूरसंचार प्राधिकरण (पीटीए) के प्रवक्ता खुर्रम मेहरान ने बताया, "यूट्यूब से पाबंदी हटा दी गई है लेकिन पवित्रता भंग करने वाले पेज नहीं खुलेंगे." पाकिस्तान में इंटरनेट सेवा मुहैया कराने वाले संघ के प्रवक्ता वजा उस सिराज ने भी यूट्यूब से पाबंदी हटने की पुष्टि की है. 17 करोड़ की आबादी वाले पाकिस्तान में यह वेबसाइट बेहद लोकप्रिय है. सिराज ने बताया, "उन्होंने कल रात आदेश किए. फिर उन्होंने कुछ यूआरएल दिए जिन पर पाबंदी बनी रहेगी, जबकि वेबसाइट खुली रहेगी. यू ट्यूब के ऐसे 200 से ज्यादा पेज हैं जो ब्लॉक रहेंगे."

पिछले दिनों पैगंबर मोहम्मद के कार्टूनों को लेकर तीखे विरोध के बाद यूट्यूब पर पूरी तरह पाबंदी लगा दी गई. हालांकि ये कार्टून सबसे पहले सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर दिखे थे. ठीक एक हफ्ते पहले लगी पाबंदी के बाद पहली बार पाकिस्तान में लोग यूट्यूब देख पा रहे हैं. फेसबुक पर एक यूज़र ने "अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता" को बढ़ावा देने के लिए मोहम्मद के कार्टून बनाने की एक प्रतियोगिता रखी, जिसे लेकर पाकिस्तान में खूब बवाल हुआ. धार्मिक समूहों की अपील पर हज़ारों लोगों ने सड़कों पर विरोध जताया, हालांकि प्रदर्शन शांतिपूर्ण ही रहे.

विवाद बढ़ता देख पीटीए ने फेसबुक और यूट्यूब पर पाबंदी लगा दी. साथ ही विकिपीडिया और लगभग 800 लिंक तक पहुंच भी सीमित कर दी, क्योंकि उनमें "ईशनिंदा" से जुड़ी सामग्री मौजूद है. लाहौर की एक अदालत ने भी कम से कम 31 मई तक फेसबुक को ब्लॉक करने का आदेश दिया. उसी दिन इस बारे में इस्लामी वकीलों की तरफ से दायर याचिका पर सुनवाई होगी.

हालांकि पैंगबर मोहम्मद के कार्टूनों की समूचे पाकिस्तान में निंदा हुई लेकिन इंटरनेट इस्तेमाल करने वाले शहरी उच्च वर्ग ने वेबसाइटों पर पूरी तरह बैन लगाने की आलोचना की. बुधवार को गृह मंत्री रहमान मलिक ने कहा कि ईशनिंदा से जुड़ी सामग्री वाले इंटरनेट पेज ब्लॉक रहेंगे लेकिन फेसबुक और यूट्यूब जैसे लोकप्रिय वेबसाइटों पर आने वाले कुछ दिनों में पाबंदी हटा ली जाएगी.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः ईशा भाटिया

संबंधित सामग्री