1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

पाकिस्तान में बाढ़ से 200 लोगों की मौत

पाकिस्तान में मॉनसून की भारी बारिश और भूस्खलन से लगभग 200 लोगों की मौत हो गई है. देश के पश्चिमोत्तर हिस्से और पाकिस्तानी कश्मीर में सैकड़ों मकान और हजारों हेक्टेयर फसल बर्बाद हो गई है.

default

राहत और बचाव के काम में सेना की मदद ली जा रही है. सरकारी मीडिया ने खबर दी है कि पाकिस्तान को चीन से जोड़ने वाले काराकोरम हाईवे को बंद कर दिया गया है क्योंकि बारिश की वजह से शांगला जिले में एक पुल टूट गया है. इसकी वजह से गिलगित बालिस्तान भी देश के दूसरे हिस्सों से कट गया है.

पाकिस्तान का सरहदी खैबर पख्तूनख्वाह प्रांत सबसे ज्यादा प्रभावित है जहां पिछले तीन दिनों में बाढ़ से 141 लोगों की जानें गई हैं. प्रांत के एक वरिष्ठ मंत्री बशीर अहमद बिलौर ने बताया, "136 लोग खैबर पख्तूनख्वाह में मारे गए हैं." उन्होंने बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा भी किया गया जहां 30 हजार से ज्यादा लोग बेघर हो गए हैं. बाढ़ के कारण कई पुल टूट गए हैं, सड़के बह गई हैं और संचार तंत्र भी अस्त व्यस्त हो गया है.

पुलिस का कहना है कि पश्चिमोत्तर पाकिस्तान में शुक्रवार को भूस्खलन में 29 लोगों की मौत हो गई. शांगला जिले में पहाड़ियों पर बने 11 घर भूस्खलन से तबाह हो गए. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी काजई जामिल ने बताया, "29 लोग मारे गए हैं. मुझे लगता है कि मरने वालों की संख्या बढ़ेगी. मृतकों में महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं." वहीं एक स्थानीय सांसद ने फजलुल्लाह खान ने 34 लोगों के मारे जाने की बात कही है. उन्होंने बताया, "राहत और बचाव का काम तेजी से चल रहा है लेकिन खराब मौसम की वजह से काफी बाधाएं आ रही हैं."

उधर पाकिस्तानी कश्मीर के प्रधानमंत्री सरदार अतीक अहमद ने बताया कि गुरुवार को बारिश की वजह से दर्जनों मकान गिरने से 22 लोगों की मौत हो गई जबकि 30 घायल हो गए. बाढ़ की वजह से पैदा मुश्किलों से निपटने के लिए सेना को तलब किया गया है. पश्चिमोत्तर हिस्से में स्वात और मालाकंड जिले सबसे ज्यादा बाढ़ से प्रभावित हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः आभा एम