1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

पाकिस्तान में फेसबुक से पाबंदी हटेगी

पाकिस्तान की एक अदालत ने सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट फेसबुक पर दो हफ्तों से लगी पाबंदी को हटाने का आदेश दिया है. पैगंबर मोहम्मद से जुड़े कार्टूनों वाले पेज के कारण फेसबुक पर पाबंदी लगाई गई थी.

default

लाहौर हाई कोर्ट के जज जस्टिस एजाज चौधरी ने कहा, "फेसबुक को बहाल करो. हम नहीं चाहते कि किसी सूचना तक पहुंच पर पाबंदी लगाई जाए." उन्होंने मामले की सुनवाई 15 जून तक टाल दी और उसी दिन पर वह अपने फैसले की समीक्षा करेंगे.

जज ने कहा, "मैं इस मुकदमे को बंद नहीं कर रहा हूं." उन्होंने डिप्टी अटॉर्नी जनरल नवीद इनायत मलिक से 15 जून को यह बताने को कहा कि क्या फेसबुक समेत किसी अन्य वेबसाइट ने फिर ईशनिंदा से जुड़ी सामग्री तो प्रकाशित नहीं की है.

मलिक ने अदालत को बताया कि सरकार ने फेसबुक पर ईशनिंदा से जुड़ी सामग्री देने के लिए पर अमेरिका से विरोध जताया है. इस वेबसाइट का मुख्यालय अमेरिका में ही है. मलिक के मुताबिक अमेरिकी अधिकारी पाकिस्तान के साथ इस बात से सहमत हैं कि वेबसाइट पर इस तरह की सामग्री देना गलत है. उन्होंने दावा किया कि पाकिस्तान को आश्वासन दिया गया है कि भविष्य में ऐसा नहीं होगा.

पाकिस्तान के इस्लामिक लॉयर मूवमेंट ने फेसबुक पर पाबंदी हटाने के अदालत के फैसले पर विरोध जताया है. इसी संगठन की याचिका के बाद फेसबुक और विवादित सामग्री देने वाली अन्य वेबसाइटों पर पाबंदी लगाई गई थी. वैसे जज ने अपने फैसले में कहा कि अगर किसी वेबसाइट पर ईशनिंदा वाली सामग्री पाई गई तो उस पर फिर पाबंदी लगा दी जाएगी.

जस्टिस चौधरी ने ही 16 मई को पाकिस्तान दूरसंचार प्राधिकरण को निर्देश दिया था कि पैगंबर मोहम्मद से जुड़ी विवादित सामग्री प्रकाशित करने के लिए फेसबुक पर पाबंदी लगा दी जाए. बाद में अधिकारियों ने दूसरी वेबसाइटों पर भी प्रतिबंध लगाया.

पाकिस्तान में इंटरनेट सेवा मुहैया कराने वाली कंपनियों की संस्था के प्रवक्ता वजाह-उस-सीराज ने कहा है कि 1,200 यूआरएल (वेबसाइट पेज) अब भी ब्लॉक हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः ए जमाल

संबंधित सामग्री