1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

पाकिस्तान में पहुंची उम्मीद से दोगुनी मदद

पाकिस्तान में बाढ़ राहत के लिए संयुक्त राष्ट्र ने जितनी मदद की मांग दुनिया से की थी, उसकी दोगुनी वहां पहुंच चुकी है. देश के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने रविवार को यह जानकारी दी.

default

इससे पहले संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की मून ने पाकिस्तान की मदद न करने के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय की आलोचना की थी.

रविवार को कुरैशी ने कहा कि ऐसे वक्त में जब यूरोप और अमेरिका आर्थिक संकट का सामना कर रहे हैं, जिस तरह उन्होंने दिल खोलकर मदद भेजी है, वह काफी उत्साहजनक है. कुरैशी ने बताया, "पाकिस्तान को अब तक किए गए वायदों समेत 81 करोड़ डॉलर की मदद मिल चुकी है." उन्होंने इस बड़ी मदद के लिए सभी देशों का धन्यवाद किया.

संयुक्त राष्ट्र ने पाकिस्तान में बाढ़ पीड़ितों के लिए खाना, रहने की जगह और दवाइयां उपलब्ध कराने के लिए 46 करोड़ डॉलर की मदद की अपील की थी. जुलाई के आखिरी हफ्ते में शुरू हुई पाकिस्तान की बाढ़ अब उत्तरी इलाकों से दक्षिण की ओर बढ़ रही है. सिंध प्रांत में लाखों लोग अपने घरों को छोड़कर भाग रहे हैं. पिछले 12 घंटे में ही सिर्फ थाटा जिले से 94 हजार लोग अपने घरों को छोड़कर जा चुके हैं.

सिंध में आपदा प्रबंधन विभाग के निदेशक खैर मोहम्मद कालोर ने कहा, "सिंधु नदी में पानी का स्तर बढ़ रहा है. कम से कम दो जिलों में बाढ़ का खतरा बना हुआ है. ऐसी कम से कम 12 जगह हैं जहां से पानी सिंधु नदी के किनारों को तोड़कर शहरों और गांवों में घुस सकता है."

अधिकारियों ने साफ किया है कि जल स्तर चार-पांच दिन तक खतरे के निशान से ऊपर बना रहेगा.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ए जमाल

DW.COM