1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

पाकिस्तान में आत्मघाती धमाका, 56 की मौत

पाकिस्तान के कबायली इलाके में एक आत्मघाती हमलावर ने सरकारी दफ्तर के बाहर खुद को उड़ा कर 56 लोगों की जान ले ली है. हमले के वक्त वहां बहुत से लोग जमा थे जो सरकार की तरफ से दी जा रही व्हीलचेयर्स लेने के लिए लाइन में लगे थे.

default

प्रशासनिक अधिकारी मकसूद अहमद ने बताया कि धमाका कबायली जिले मोहमंद के याकाघुंड कस्बे में हुआ. मोहमंद उन सात जिलों में से एक है जिन्हें कबाइली बेल्ट कहा जाता है. इसी इलाके को अमेरिका अल कायदा का ग्लोबल हेडक्वॉर्टर कहता है.

चश्मदीदों का कहना है कि धमाके से प्रशासनिक दफ्तर, उसके आसपास मौजूद दुकानों, एक स्थानीय जेल और अन्य इमारतों को बहुत नुकसान हुआ है. इलाके के वरिष्ठ सरकारी अधिकारी रसूल खान ने बताया, "मतृकों की संख्या बढ़कर 56 हो गई है. यह संख्या और बढ़ सकती है क्योंकि कई लोगों को अब भी दुकानों के मलबे के नीचे से निकाला जाना है." यह इलाका अफगानिस्तान से ज्यादा दूर नहीं है, जहां अमेरिका के नेतृत्व में एक लाख 40 हजार सैनिक तालिबान से लोहा ले रहे हैं.

अहमद ने बताया, "यह एक आत्मघाती हमला था. उस वक्त वहां एक कार्यक्रम हो रहा था जिसमें व्हीलचेयर बांटी जा रही थी. दफ्तर के बाहर बहुत सारे लोग जमा थे." इससे पहले तीन अस्पतालों के डॉक्टरों ने धमाके में मृतकों की संख्या 17 बताई थी.

अभी तक किसी ने धमाके की जिम्मेदारी नहीं ली है. लेकिन पाकिस्तान में आए दिन तालिबान और अल कायदा की तरफ से धमाके हो रहे हैं. खास कर जुलाई 2007 में इस्लामाबाद की लाल मस्जिद में कट्टरपंथियों के खिलाफ सैन्य अभियान के बाद शुरू हुए धमाकों में पिछले तीन साल के दौरान 3,400 से ज्यादा लोग मारे गए हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः उज्ज्वल भट्टाचार्य

संबंधित सामग्री