पाकिस्तान पहुंचे भारत के दो करोड़ डॉलर | दुनिया | DW | 18.09.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

पाकिस्तान पहुंचे भारत के दो करोड़ डॉलर

भले ही द्विपक्षीय संबंधों में जिद बनी हुई हो, भारत ने वादे के मुताबिक पाकिस्तान के बाढ़ पीड़ितों के लिए 2 करोड़ डॉलर, यानी लगभग 90 करोड़ रुपये की मदद मुहैया कराई है.

default

भारत की यह मदद संयुक्त राष्ट्र के जरिये दी जा रही है. संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई प्रतिनिधि हरदीप पुरी ने महासचिव बान की मून को 2 करोड़ डॉलर का एक चेक प्रदान किया. पाकिस्तान के स्थाई प्रतिनिधि अब्दुल्ला हुसैन हारुन भी इस अवसर पर उपस्थित थे.

इस मौके पर भारतीय प्रतिनिधि ने कहा कि प्राकृतिक विपदाएं राष्ट्रीय सीमाओं को नहीं मानती हैं. यह भारत सरकार के सबसे ऊंचे स्तर से एक छोटा सा, लेकिन महत्वपूर्ण संकेत है कि इस मुश्किल घड़ी में भारत की जनता पाकिस्तान की जनता के साथ है.

भारत की ओर से शुरू में 50 लाख डॉलर, यानी लगभग बाईस-तेईस लाख रुपये की मदद की घोषणा की गई थी. पाकिस्तान काफ़ी समय तक इस मदद को लेने में हिचक रहा था. बाद में पाकिस्तान ने इस शर्त पर मदद को स्वीकार किया कि संयुक्त राष्ट्र के जरिये यह धन दिया जाना चाहिए. स्वीकार किए जाने के बाद भारत ने अपनी मदद बढ़ाकर दो करोड़ डॉलर करने की घोषणा की थी. इस प्रकार अब तक पाकिस्तान को भारत की ओर से कुल मिलाकर ढाई करोड़ डॉलर सहायता दी गई है.

यह मदद एक ऐसे समय में दी गई है, जबकि दोनों देशों के बीच संबंधों को सुधारने की कोशिशें अधर में लटकी हुई हैं, और कश्मीर में अशांति के सामने लाचार भारत सरकार मांग कर रही है कि पाकिस्तान भारत विरोधी गतिविधियों के लिए अपनी जमीन का इस्तेमाल न होने दे.

रिपोर्ट: एजेंसियां/उभ

संपादन: वी कुमार

DW.COM

WWW-Links