1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

पाकिस्तान ने भारत से पूछा, कहां है हमारा पूर्व अफसर

पाकिस्तान ने पत्र लिख कर भारत से अपने एक पूर्व सैन्य अधिकारी लेफ्टिनेंट कर्नल मोहम्मद हबीब जहीर के बारे में जानकारी मांगी है. बताया जाता है कि हबीब 6 अप्रैल से नेपाल से लापता है.

पाकिस्तान ने भारत के साथ अपने लापता अधिकारी हबीब जहीर का मुद्दा उठाया है. पाकिस्तान में भारतीय मिशन को भेजे पत्र में पाकिस्तान ने उनकी जानकारी मांगी है. भारत ने कहा है कि उसे लापता अधिकारी के बारे में सूचना नहीं है. कई अखबारों ने पाकिस्तानी सरकार में अपने सूत्रों के हवाले से लिखा है कि पाकिस्तान को लगता है कि जहीर को भारत की खुफिया एजेंसी रॉ ने अगवा किया है और वह उन्हीं की गिरफ्त में हैं. इसे वह पाकिस्तान में कैद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के मामले से जोड़ कर देख रहे हैं.

पाकिस्तान का कहना है कि जहीर को आखिरी बार नेपाल में देखा गया था. इसलिए नेपाली दूतावास से भी उनके बारे में जानकारी मांगी गयी थी. नेपाल के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि जहीर के लापता होने की जांच अभी जारी है. मीडिया रिपोर्टों के अनुसार जहीर ने पहले पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के साथ काम किया है.

दोनों देश भारतीय नागरिक जाधव को पाकिस्तानी सैन्य कोर्ट में सुनायी गयी सजा को लेकर कानूनी दांव पेंच में फंसे हैं. हाल ही में हेग की अंतरराष्ट्रीय अदालत ने पाकिस्तान में जाधव की फांसी की सजा पर फिलहाल रोक लगायी है.

पाकिस्तान जाधव को भारत का जासूस बताता है. पाकिस्तानी सेना ने एक वीडियो भी जारी किया जिसमें जाधव को पाकिस्तान में आतंकवादी गतिविधियों में शामिल होने की बात कबूलते हुए दिखाया गया है. वहीं, भारत इससे इनकार करता रहा है. पाकिस्तानी सेना ने आरोप लगाया है कि भारत ने कश्मीर के विवादित इलाके में उसके तीन ग्रामीणों को घायल कर दिया है, जिसे वह संघर्षविराम का उल्लंघन बता रहा है. वहीं भारतीय सेना ने दो संदिग्ध विद्रोहियों को मार गिराने का दावा किया है.

भारतीय सेना के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने बताया कि सैनिकों और पुलिस के विशेष दस्ते ने उत्तरी नाथीपोरा गांव में एक घर को घेर लिया था, जहां घर में छुपे उग्रवादियों के साथ गोलीबारी हुई. कालिया ने बताया, "ऑपरेशन में दो आतंकी मारे गये और उनके पास से दो हथियार भी बरामद हुए."

कुछ ही दिन पहले घाटी में एक प्रमुख उग्रवादी कमांडर सब्जार बट को मारा गया था. इसके बाद कश्मीर घाटी के बड़े हिस्से में तीन-दिन के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया. कई जिलों में स्कूल और कॉलेज भी बंद रहे.

आरपी/एके (एपी, एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री