1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

पाकिस्तान को हरा भारत हॉकी फाइनल में

पाकिस्तान को 2-1 से हराकर भारतीय हॉकी टीम एशियन चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में पहुंची. भारत का अगला मुकाबला मलेशिया से होगा. पाकिस्तान की किस्मत काफी हद तक उस मैच के नतीजे पर टिकी होगी.

36वें मिनट में रुपिंदर पाल सिंह की स्टिक से भारत के लिए पहला गोल निकला. 51वें मिनट में गुरविंदर चंडी के शानदार पास को युवा खिलाड़ी चिंग्लेसना ने गोल में तब्दील कर भारत की बढ़त को 2-0 कर दिया. पाकिस्तान के लिए एक मात्र गोल मोहम्मद वकास ने किया. 57वें मिनट में पाकिस्तान को मिले तीसरे पेनल्टी कॉर्नर को भी भारतीय गोलकीपर ने रोक लिया लेकिन रिबाउंड शॉट मारकर वकास ने खाता खोल ही दिया. मैच के अंतिम क्षणों में भारतीय टीम के उपकप्तान रघुनाथ को पीला कार्ड देखना पड़ा, लेकिन इसका कोई खास असर नहीं हुआ.

पहले हाफ की कुछ गड़बड़ियों के अलावा पूरे मैच में भारतीय टीम ही छाई रही. जीत के साथ भारत ने इसी महीने चैंपियंस ट्रॉफी के कांस्य पदक मुकाबले में पाकिस्तान से मिली हार का हिसाब चुकता कर दिया. दो हफ्ते पहले मेलबर्न में खेले गए मैच में पाकिस्तान ने एक गोल से पिछड़ने के बावजूद जीत हासिल की थी. सोमवार को सरदार एंड कंपनी ने ऑस्ट्रेलिया में की गई गलतियां नहीं दोहराईं.

छह देशों के इस टूर्नामेंट में भारत अब तक एक भी मैच नहीं हारा है. सरदार सिंह की अगुवाई में टीम चीन को 4-0 से, जापान को 3-1 और ओमान को तो 11-0 से हरा चुकी है. लीग मुकाबलों में भारत का आखिरी मैच बुधवार को मलेशिया से है. मलेशिया भी मजबूत टीम है. अच्छे प्रदर्शन की बदौलत 12 अंकों के साथ भारत अंकतालिका में शीर्ष पर है.

चार मैच खेलने के बाद पाकिस्तान और मलेशिया के सात-सात अंक हैं. बुधवार को अगर भारत मलेशिया को हरा दे तो पाकिस्तान के लिए टूर्नामेंट का रास्ता बढ़िया ढंग से खुला रहेगा. मलेशिया के खिलाफ 3-3 की बराबरी पर रहने वाले पाकिस्तान को हालांकि अगले मैच में हर हाल पर जापान को हराना ही होगा.

ओएसजे/एमजे (पीटीआई)

DW.COM

WWW-Links