1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

पाकिस्तान को और कदम उठाने होंगेः क्लिंटन

अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने कहा है कि पाकिस्तान को आतंकवाद से लड़ने के लिए और कदम उठाने होंगे. इस्लामाबाद पहुंचीं हिलेरी ने कहा कि उम्मीद है कि पाकिस्तान इस पर अमल करेगा.

default

हिलेरी क्लिंटन पहुंचीं पाकिस्तान

हिलेरी ने साफ किया कि जहां तक आतंकवाद से लड़ने की बात है इस्लामाबाद और वॉशिंगटन के रिश्ते और मजबूत हुए हैं और सहयोग बढ़ा है. हालांकि उन्होंने चेतावनी दी कि अगर अमेरिका पर हुए किसी हमले का सूत्र पाकिस्तान से जुड़ता है तो इसका दोनों देशों के रिश्तों पर विनाशकारी असर होगा.

दो दिन की अपनी यात्रा में अमेरिकी विदेश मंत्री पाकिस्तान के साथ कई समझौते कर सकती हैं, जिनके जरिए पाकिस्तान को दी जाने वाली मदद बढ़ाई जाएगी. रविवार शाम को उन्होंने प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी और राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी से बातचीत की. सोमवार को वह सेना के कई बड़े अफसरों से मिलेंगी. वह पाकिस्तान के लिए बड़ी आर्थिक मदद का भी एलान कर सकती हैं.

अमेरिका के एक सीनियर अधिकारी ने एएफपी को बताया कि यह आर्थिक मदद साढ़े सात अरब डॉलर के उस पैकेज का हिस्सा है, जिसे अमेरिकी कांग्रेस ने पिछले साल पास किया था. यह पैकेज पांच साल के दौरान दिया जाना है. सोमवार को जिस मदद की घोषणा की जाएगी, उसका बड़ा हिस्सा पानी, ऊर्जा और स्वास्थ्य योजनाओं पर खर्च होना है.

मंगलवार को क्लिंटन अफगानिस्तान जाएंगी, जहां वह दान दाताओं की अंतरराष्ट्रीय कॉन्फ्रेंस में हिस्सा लेंगी. पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी सोमवार को अमेरिकी विदेश मंत्री से मिलेंगे और अपनी रणनीतिक वार्ता को आगे बढ़ाएंगे जिसकी शुरुआत वॉशिंगटन में मार्च में दोनों नेताओं की मुलाकात के साथ हुई थी.

ओबामा प्रशासन का मानना है कि पाकिस्तान को और मदद दी जाए ताकि वह अफगान सीमा पर आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई बढ़ा सके और अमेरिका को वहां की लड़ाई से छुटकारा मिले. एक सीनियर अमेरिकी अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर एएफपी को बताया कि पाकिस्तान के ताकतवर सैन्य प्रमुख जनरल अशफाक कियानी के साथ नजदीकी अमेरिकी रिश्तों ने हक्कानी नेटवर्क के साथ लड़ाई में खासी मदद की है. हक्कानी नेटवर्क अफगानिस्तान में अमेरिका का सिर दर्द बना हुआ है.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ए कुमार