1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

पाकिस्तान को उबरने में तीन साल लगेंगे

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने चेतावनी दी है कि बाढ़ से बेहाल पाकिस्तानी इलाकों में स्थिति सामान्य होने और पुनर्निर्माण में तीन साल से ज्यादा का समय लग सकता है. बाढ़ की विभीषिका से दो करोड़ लोग प्रभावित.

default

भूख प्यास से तड़पते लोग

पाकिस्तानी राष्ट्रपति ने उन आशंकाओं से इनकार किया है जिनके मुताबिक भयंकर मानवीय आपदा से तालिबान और अल कायदा चरमपंथियों के खिलाफ पाकिस्तान की लड़ाई प्रभावित होगी. अमेरिका के दबाव में पाकिस्तान पश्चिमोत्तर इलाकों में तालिबान के खिलाफ सैन्य अभियान चला रहा है.

अमेरिका सहित अन्य देशों से मिल रही मदद का राष्ट्रपति जरदारी ने स्वागत तो किया लेकिन वे अपील करना नहीं भूले कि लोगों के दिलों को जीतने और अमेरिका विरोध की भावना को दूर करने के लिए और प्रयास किए जाने की जरूरत है.

Karzai Zardari Medvedev Gipfeltreffen

इस्लामाबाद में पत्रकारों से बातचीत के दौरान स्पष्ट हुआ कि आसिफ अली जरदारी को चिंता सताए जा रही है कि पाकिस्तान को बाढ़ की विभीषिका से उबरने में कई साल लग सकते हैं और उन्होंने इसे छिपाया भी नहीं. "सही अनुमान तो नहीं लगाया जा सकता लेकिन कम से कम तीन साल तो लगेंगे ही. मुझे यह तो नहीं लगता कि पाकिस्तान कभी पूरी तरह इस आपदा से उबर पाएगा लेकिन जिंदगी तो आगे बढ़ेगी ही." जरदारी से पूछा गया था कि राहत, पुनर्वास और पुनर्निर्माण के काम में कितने साल लगेंगे.

पाकिस्तानी राष्ट्रपति ने आश्वस्त किया है कि बाढ़ के खतरे से लोगों को बचाने के लिए पाकिस्तान सरकार हरसंभव कदम उठा रही है.

पाकिस्तान की स्थापना के बाद इसे अब तक की सबसे भयंकर बाढ़ माना जा रहा है जिसमें पाकिस्तान का 20 फीसदी हिस्सा डूब गया है. बाढ़ से विस्थापित हुए लोग भोजन, जल और शरण की तलाश में हैं और सरकार से नाखुश हैं. जरदारी ने माना कि लोगों में असंतोष है.

"लोगों में नाखुशी तो है ही, असंतोष भी होगा क्योंकि लोग सोच रहे हैं कि जो उन्होंने खो दिया है वो उन्हें वापस मिलना चाहिए. हम कोशिश करेंगे कि जितना हो सके हम लोगों की मदद कर सकें."

पाकिस्तान ने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष के साथ 11 अरब डॉलर के कर्ज पर बातचीत की है. आईएमएफ के क्षेत्रीय निदेशक मसूद अहमद ने ब्रिटिश मीडिया को बताया कि आईएमएफ मुश्किल घड़ी में पाकिस्तान की मदद का रास्ता तलाश रहा है.

पाकिस्तान को संयुक्त राष्ट्र की अपील से कहीं ज्यादा मदद हासिल हो चुकी है लेकिन बाढ़ और उससे तबाही की व्यापकता को देखते हुए और मदद का इंतजार है. बाढ़ से पाकिस्तान में अब तक 1600 लोगों की मौत हो चुकी है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: उभ

DW.COM

WWW-Links