1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

पाकिस्तान के लिए बान की मून ने फैलाए हाथ

संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने दुनिया के सभी देशों से पाकिस्तान की मदद के लिए आगे आने को कहा है. रविवार को बान की मून ने मंत्रियों की एक बैठक में दुनिया से 2 अरब डॉलर की सहायता राशि जुटाने की अपील की.

default

बान की मून ने रविवार को पाकिस्तान का समर्थन कर रहे देशों के शीर्ष मंत्रियों के साथ एक बैठक भी की जिसमें अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन भी शामिल हुईं. बैठक के बाद हिलेरी ने अमेरिका की तरफ से 34 करोड़ डॉलर की सहायता राशि देने का एलान किया. इसके तुरंत बाद ब्रिटेन ने भी अपनी सहायता राशि को दोगुना करते हुए इसे 20 करोड़ डॉलर कर दिया. यूरोपीय संघ ने भी पाकिस्तान के बाढ़ पीड़ितों के लिए 31.5 करोड़ डॉलर की रकम देने का एलान किया.

Pakistan Flutkatastophe

इस मामले में ईरान भी पीछे नहीं रहा और उसने 10 करोड़ डॉलर की सहायता देने का वादा किया है. जर्मनी ने भी अपनी तरफ से सहायता राशि को एक करोड़ डॉलर बढ़ाने का फैसला किया है. भारत पहले ही ढाई करोड़ डॉलर की सहायता राशि भेज चुका है. चीन और दूसरे देशों ने भी सहायता भेजने की बात कही है. हालांकि अभी तक ये पता नहीं चल सका है कि दो अरब डॉलर की रकम में उनकी भागीदारी कितनी होगी.

मंत्रियों की बैठक में बान की मून ने कहा, "हम यहां इसलिए जमा हुए हैं जिससे कि पाकिस्तान के ऐतिहासिक संकट के लिए सहायता जुटा सकें. ये संयुक्त राष्ट्र के इतिहास की भी सबसे बड़ी आपदा है." भारी बारिश ने पाकिस्तान के उत्तरी इलाके को जुलाई के आखिर में डुबोना शुरू किया और देखते ही देखते खड़ी फसलें, मकान, और गांव सब इस सैलाब में बह गए. संयुक्त राष्ट्र महासचिव के मुताबिक कम से कम दो करोड़ लोग इस बाढ़ से प्रभावित हुए हैं जिनमें से एक करोड़ से ज्यादा लोगों को तुरंत मानवीय सहायता दिए जाने की जरूरत है.

संयुक्त राष्ट्र ने पाकिस्तान की मदद के लिए अगस्त में 46 करोड़ डॉलर की रकम की जरूरत बताई थी. अब आपदा का सही विवरण मिलने के बाद इसे चारगुने से भी ज्यादा बढ़ा दिया गया है. बान की मून ने कहा," नई अपील अगले छह महीनों में पाकिस्तान के पुनर्निर्माण की जरूरतों को देखते हुए की गई है. मैं दुनिया से तुरंत मदद भेजने की अपील करता हूं. पाकिस्तान का संकट दुनिया का संकट है जिससे निबटने के लिए सबको साथ आना होगा. निश्चित रूप से ये संकट ऐसे इलाके में आया है जहां स्थायित्व दुनिया के हित में है."

पाकिस्तान के विदेश मंत्री एस एम कुरैशी ने कहा, "अगर पाकिस्तान के संकट का अंदाजा लगाना हो तो 2005 में कैटरीना तूफान से अमेरिका में हुई बर्बादी को सौगुना करके देख लीजिए."

रिपोर्टः एजेंसियां/ एन रंजन

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links