1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

पाकिस्तान की टीम पर बैन की मांग

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों पर लगे मैच फिक्सिंग के आरोपों की गंभीरता को देखते हुए पूरी टीम को ही बैन कर देने की मांग उठ रही है. आईसीसी के पूर्व अध्यक्ष मैलकम स्पीड ने कहा कि सच सामने आने तक टीम को बैन किया जाए.

default

स्पीड ने कहा है कि यह मामला काफी गंभीर लग रहा है. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के राष्ट्रीय रेडियो चैनल एबीसी से कहा, "यह दुखद है, लेकिन ऐसा लगता है कि पाकिस्तानी टीम के कई खिलाड़ी पिछले काफी समय से इसमें शामिल रहे हैं."

पाकिस्तानी टीम के कुछ खिलाड़ियों पर इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट मैच में फिक्सिंग के आरोप लगे हैं. यह खुलासा एक ब्रिटिश अखबार ने स्टिंग ऑपरेशन के बाद किया. इस सिलसिले में लंदन की पुलिस ने एक व्यक्ति मजहर मजीद को गिरफ्तार भी किया, हालांकि बाद में उसे जमानत पर रिहा कर दिया गया.

इस घटना पर पाकिस्तान और इंग्लैंड के पूर्व खिलाड़ियों ने दुख जताया है. दोनों देशों के कई खिलाड़ियों ने कहा कि खेल में से भ्रष्टाचार की गंदगी को फौरन साफ किया जाना चाहिए. पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेट कप्तान रमीज राजा ने अखबार द डेली टेलीग्राफ में लिखा है कि देश को इससे सबक सीखना होगा. राजा लिखते हैं,"अपने पसंदीदा खिलाड़ियों और पाकिस्तानी मिट्टी के सपूतों के ऐसे व्यवहार को देखकर पूरी एक पीढ़ी को काफी निराशा हुई है और उसकी उम्मीदें टूटी हैं. यह क्रिकेट के लिए एक आपदा है और पाकिस्तान में इन घावों को भरने में काफी वक्त लगेगा. खिलाड़ियों ने देश का सिर नीचा किया है. उनके साथ कड़ाई से पेश आना चाहिए."

रमीज राजा ने इस बात पर भी दुख जताया है कि मोहम्मद आमेर जैसे नौजवान खिलाड़ी का नाम इस स्कैंडल में उछला है. उन्होंने लिखा है, "मोहम्मद आमेर...एक टैलेंट की बर्बादी...उसे इसकी कीमत चुकानी होगी. इसके लिए वह ताउम्र पछताएगा. क्रिकेट ने एक बेहतरीन प्रतिभा खो दी है."

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने मैच फिक्सिंग के आरोपों के बाद पाकिस्तान के साथ होने वाली वन डे सीरीज पर भी सवाल उठाए हैं. उन्होंने द डेली टेलीग्राफ में लिखा है, "इंग्लैंड अब उन खिलाड़ियों के साथ नहीं खेलना चाहेगा और कुछ भी असामान्य होने पर जनता को भी शक होगा. मैचों की विश्वसनीयता पर संदेह बना रहेगा क्योंकि दो वन डे मैचों पर पहले ही फिक्सिंग के आरोप लग चुके हैं."

इंग्लैंड के एक और पूर्व कप्तान नासिर हुसैन को संदेह है कि जो खुलासे हुए हैं वे पूरे सच का बस थोड़ा सा हिस्सा हैं. उन्होंने डेली मेल में लिखा है, "मुझे संदेह है कि हम सिर्फ कुछ नो बॉल की बात कर रहे हैं. पाकिस्तान के इस रास्ते पर जाने को लेकर मुझे उन पर बहुत गुस्सा आ रहा है. मैं उम्मीद करता हूं कि अगर आरोप सही पाए जाते हैं तो अधिकारी काफी सख्त कार्रवाई करेंगे."

हालांकि इंग्लैंड के पूर्व गेंदबाज डेरेक प्रिंगल ने पाकिस्तान को एक और मौका देने की बात कही है. उन्होंने कहा, "क्रिकेट जगत को पाकिस्तान से मुंह नहीं मोड़ना चाहिए. उन्हें निश्चित रूप से एक और मौका मिलना चाहिए. क्रिकेट, खासतौर पर टेस्ट क्रिकेट इतना रूखा नहीं है कि वह पाकिस्तान को खारिज कर दे. लेकिन इस बार जब तक पाकिस्तानी खिलाड़ी सारे आरोपों से बाहर नहीं आ जाते, तब तक उन्हें क्रिकेट समुदाय से दूर रहना चाहिए."

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः एन रंजन

DW.COM

WWW-Links