1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

पाकिस्तान और इंग्लैंड में तीसरा टेस्ट आज से

लगातार दो टेस्ट हारने के बाद पाकिस्तान की टीम आज इंग्लैंड से तीसरे मैच में भिड़ेगी. यह ऐसा मौका होगा, जब पाकिस्तान के सभी 11 खिलाड़ी एक ही प्रांत पंजाब के होंगे. सीरीज में वापसी के लिए बट की टीम को यह मैच जीतना ही होगा.

default

यासिर हमीद की लगभग तीन साल बाद पाकिस्तान की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम में वापसी हो सकती है और अगर ऐसा हुआ तभी टीम के सभी खिलाड़ी पाकिस्तानी पंजाब के नहीं होंगे. इंग्लैंड के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की सीरीज में ओवल में तीसरा मैच बुधवार से खेला जा रहा है.

बल्लेबाजी का संकट दूर करने के लिए पाकिस्तान ने वरिष्ठ और तजुर्बेकार क्रिकेट खिलाड़ी मोहम्मद यूसुफ को टीम में शामिल कर लिया है, जो अपना संन्यास तोड़ कर टीम से जुड़े हैं, जबकि यासिर हमीद को भी याद किया गया है. पाकिस्तान ने टीम में कुल मिला कर चार बदलाव किए हैं. अपने करियर के पहले टेस्ट में शानदार प्रदर्शन करने वाले जुल्करनैन हैदर चोटिल हैं और उनकी जगह एक बार फिर कामरान अकमल को बुला लिया गया है.

Mohammad Yusuf

संन्यास तोड़ कर आए हैं मोहम्मद यूसुफ

इस दौरे में लगातार संघर्ष कर रहे उमर अमीन और शोएब मलिक का पत्ता कट गया लगता है. उनकी जगह हमीद और यूसुफ टीम में आएंगे. यूसुफ पाकिस्तान की तरफ से तीसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं और इंग्लैंड के खिलाफ उनका औसत 70 रन के आस पास है.

हैदर की जगह अकमल विकेटकीपिंग करेंगे, जिनकी कप्तान सलमान बट के साथ अच्छी नहीं बन रही है. गेंद की बजाय बल्ले से थोड़ा बहुत कमाल दिखाने वाले उमर गुल भी चोटिल हैं और उनकी जगह टीम में वहाब रियाज लेंगे.

बट ने इस मैच में वापसी की उम्मीद जताते हुए कहा, "हमें इस मैच को जीतना ही होगा. इस जीत को हासिल करने के लिए हमने टीम में चार बदलाव किए हैं और हम कोशिश करेंगे कि इसके बाद हम सीरीज को बराबर कर पाएं."

आखिरी मौके पर हमीद अगर टीम में शामिल नहीं किए गए तो सभी खिलाड़ी पाकिस्तानी पंजाब प्रांत के होंगे. हमीद सरहदी सूबे से ताल्लुक रखते हैं. लेकिन अगर उन्हें नहीं रखा गया तो पाकिस्तान क्रिकेट के इतिहास में यह पहला मौका होगा, जब सभी क्रिकेटर एक ही सूबे के होंगे.

पाकिस्तान का यह दौरा किसी बुरे सपने से कम नहीं है. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दो टेस्ट सीरीज के पहले टेस्ट में हार के बाद नियमित कप्तान शाहिद अफरीदी ने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया और कप्तानी बट के पास आ गई. सलमान बट की कप्तानी में दूसरे टेस्ट में पाकिस्तान ने ऑस्ट्रेलिया को हरा कर सीरीज किसी तरह बराबर कर ली लेकिन उसके बाद इंग्लैंड के आगे टीम ने घुटने टेक दिए.

चार टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला टेस्ट पाकिस्तान 354 रन से हार गया और दूसरे टेस्ट में उसे नौ विकेट की पराजय झेलनी पड़ी. इस दौरान पाकिस्तान की पूरी टीम कभी 80 तो कभी 72 रन पर आउट हो गई. लेकिन बट को उम्मीद है कि उनके खिलाड़ी आने वाले दिनों में कुछ करिश्मा कर सकते हैं.

पाकिस्तान के लाहौर शहर में पिछले साल श्रीलंका की राष्ट्रीय टीम पर कातिलाना हमला हुआ, उसके बाद से वहां अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेला जा रहा है. इसी वजह से अगले साल होने वाले विश्व कप के मैच भी उससे छीन लिए गए. पाकिस्तान को मजूबरी में घरेलू सीरीज बाहर खेलनी पड़ रही है और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली गई सीरीज भी इसी का नतीजा थी.

रिपोर्टः एएफपी/ए जमाल

संपादनः एन रंजन