1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

पाकिस्तान और अमेरिका के बीच बातचीत शुरू

पाकिस्तान और अमेरिका के बीच आपसी सहयोग को आतंकवाद के खिलाफ संघर्ष से आगे ले जाने पर द्विपक्षीय बातचीत शुरू हो गई है. अमेरिका में हो रही इस बातचीत में आपसी मुद्दों के अलावा कश्मीर का मसला भी उठ सकता है.

default

कुरैशी क्लिंटन वार्ता

अमेरिका में पाकिस्तान के राजदूत हुसैन हक्कानी ने बताया कि विदेश मंत्री स्तर की इस बातचीत में पाकिस्तान के पड़ोसी मुल्कों के साथ रिश्ते और अफगानिस्तान की स्थित पर विचार विमर्श होगा. बातचीत शुरू होने से पहले उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान मामले में भारत की भूमिका, कश्मीर और भारत पाकिस्तान संबंध एजेंडे का हिस्सा हैं.

बातचीत में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी और अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन दोनों पक्षों का नेतृत्व कर रहे हैं. इसके अलावा पाकिस्तान के सेना प्रमुख अशफाक परवेज कियानी की मौजूदगी उल्लेखनीय है. हक्कानी ने कहा, "वैसे तो पाकिस्तान और अमेरिका के रिश्ते मजबूत हैं लेकिन दोनों के बीच कुछ मसलों पर मौजूद मतभेदों को भी बातचीत में दूर किया जाएगा. अमेरिका और पाकिस्तान के बीच आपसी सहयोग को इस्लामिक आतंकवाद के खिलाफ युद्ध में मदद के दायरे से आगे ले जाने के लिए यह तीसरे दौर की बातचीत है.

अमेरिका में सेंटर फॉर स्ट्रेटजिक एंड इंटरनेशनल स्टडीज के विश्लेषक मार्क क्वाटरमेन ने बताया कि बातचीत के एजेंडे में बाढ़ राहत, ऊर्जा और अन्य मुद्दे शामिल होने के बावजूद अफगान सीमा पर आतंकवादी गतिविधियों में कमी न आने का मसला छाया रहेगा. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान तालिबानियों के लिए सुरक्षित पनाहगार बन चुका है और यह अमेरिका के लिए बहुत बड़ी चिंता है. क्वाटरमेन ने कहा कि तीन दिन तक चलने वाली यह बातचीत दोनों देशों के लिए एक अच्छा मौका साबित हो सकती है क्योंकि इस दौरान अफगान युद्ध से लेकर तमाम मसलों पर मौजूद संशय के बादल छंट सकेंगे.

रिपोर्टः एजेंसियां/निर्मल

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री