1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

पाकिस्तानी सेना प्रमुख की भारत को चेतावनी

पाकिस्तान के सेना प्रमुख ने पाकिस्तान के रक्षा दिवस पर देश के नाम संदेश में 1965 के भारत पाकिस्तान युद्ध का जिक्र किया. इस भाषण में उन्होंने फिर से जंग की सूरत में भारत को "नाकाबिले बर्दाश्त कीमत अदा करने" की चेतावनी दी.

इस भाषण के दौरान जनरल राहील शरीफ ने कश्मीर के मामले को एक "नामुकम्मल एजेंडा" बताया और कहा कि कश्मीरी लोग "भारतीय नाइंसाफियों का शिकार" हो रहे हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि मौजूदा हालात में "अमन मुमकिन नहीं" है. अपने भाषण में शरीफ ने भारत को दुश्मन की संज्ञा देते हुए कहा, "दुश्मन ने अगर कभी भी छोटे या बड़े पैमाने पर हरकत की कोशिश की, तो उसे इसकी नाकाबिले बर्दाश्त कीमत अदा करनी पड़ेगी."

उन्होंने कहा कि उनकी सेना किसी भी तरह के हमले से निपटने की क्षमता रखती है, "चाहे हॉट स्टार्ट हो या कोल्ड स्टार्ट, हम तैयार हैं." शरीफ की यह टिप्पणी भारतीय सेना के कोल्ड स्टार्ट सिद्धांत पर केंद्रित है, जिसके अनुसार आदेश मिलने के 48 घंटों के अंदर पाकिस्तान के विरुद्ध आक्रामक अभियान शुरु किए जा सकते हैं.

इस भाषण के बाद जनरल शरीफ सोशल मीडिया पर छाए हुए हैं. कुछ लोगों का कहना है कि इस भाषण से पता चलता है कि पाकिस्तान में नवाज शरीफ नहीं, राहील शरीफ हुकूमत में हैं. इसे भारत पाकिस्तान के बिगड़े हुए रिश्तों का प्रमाण भी माना जा रहा है.

जनरल शरीफ का यह बयान ऐसे समय में आया है जब भारत और पाकिस्तान के बीच सीमा पर तनाव बना हुआ है. जम्मू कश्मीर के पूंछ जिले में सोमवार को हुई गोलाबारी में एक नागरिक की मौत हो गयी. सेना के एक प्रवक्ता ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया कि पाकिस्तान की ओर से रविवार रात 11 बजे से गोलीबारी शुरू हुई, जो सोमवार सुबह तक जारी रही. पूंछ जिले के एसएसपी जेएस जोहर ने बताया कि लाइन ऑफ कंट्रोल के करीब घास काटते एक व्यक्ति की जान चली गयी, जबकि एक अन्य व्यक्ति घायल हुआ है. भारतीय सेना के अनुसार पूंछ जिले में पाकिस्तानी सेना ने बीते हफ्तों में कई बार युद्ध विराम का उल्लंघन किया है.

आईबी/आरआर (पीटीआई)

DW.COM

संबंधित सामग्री