1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

पाकिस्तानी क्रिकेटरों के कमरों से भारी रकम मिली

पाकिस्तान के कुछ क्रिकेटरों के कमरों से पुलिस को पैसा मिला है. होटल में मिला यह कैश खिलाड़ियों को मिलने वाले भत्ते से ज्यादा है. आईसीसी और पीसीबी का कहना है कि पुलिस जांच पूरी होने के बाद ही कोई कार्रवाई की जाएगी.

default

इंग्लैंड के मशहूर अखबार द इंडिपेंडेंट की रिपोर्ट के मुताबिक, ''अधिकारियों को कुछ खिलाड़ियों के कमरों से भारी मात्रा में बैंक नोट मिले हैं. यह रकम खिलाड़ियों को रोज मिलने वाले तयशुदा पैसे से कहीं ज्यादा है. अभी यह साफ नहीं हुआ है कि कमरों से मिले नोटों का संबंध मैच फिक्सिंग के आरोपों से है या नहीं.''

गिरफ्तार हो चुके सट्टेबाज मजहर मजीद से पूछताछ के बाद पाकिस्तानी खिलाड़ियों पर शिकंजा कसता जा रहा है. द इंडिपेंडेंट का कहना है, ''पाकिस्तानी टीम के मैनेजर मिस्टर सईद को टीम के होटल स्विस कॉटेज में एक फोन आया, उसमें कहा गया कि दो पुलिस अधिकारी उनसे मिलना चाहते हैं. फिर पुलिस ने दो घंटे तक कप्तान सलमान बटट् और कई अन्य खिलाड़ियों के कमरों की तलाशी ली.'' इंग्लैंड की पुलिस के जासूस पहले ही बटट्, मोहम्मद आसिफ और मोहम्मद आमेर के फोन जब्त कर चुके है.

Höchste Terror-Alarmstufe in London

जांच का जिम्मा स्कॉटलैंड यार्ड को

मजीद की दौलत और शोहरत देखकर मैच फिक्सिंग का संदेह गहराता जा रहा है. मजीद दक्षिणी लंदन की एक जानी मानी शख्सियत है. उसका परिवार 18 लाख पाउंड के आलीशान घर में रहता है. पड़ोसियों ने पुलिस को बताया है कि अक्सर मजीद के घर पार्टियां होती रहती हैं, जिनका न्योता नेताओं और खिलाड़ियों को भी भेजा जाता है.

मजीद पेशे से प्रॉपर्टी का काम करता है. ब्रिटेन के एक अन्य बड़े अखबार टेलीग्राफ का दावा है कि मजीद की कंपनी में हजारों पाउंड के बकाया बिल मिले हैं. कई बिलों का संबंध ऐसी फर्म से है जो बहुत पहले ही बंद हो चुकी है.

इस बीच आईसीसी ने उम्मीद जताई है कि पुलिस जांच की रिपोर्ट दो-तीन दिन के भीतर आ जाएगी. उसके बाद ही कोई कार्रवाई की जाएगी. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड का कहना है कि वह पुलिस जांच के नतीजे आने तक किसी खिलाड़ी को निलंबित नहीं करेगा.

रिपोर्ट: पीटीआई/ओ सिंह

संपादन: महेश झा

DW.COM