1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

पांचवें दौर में लगभग 50 फीसदी मतदान

बिहार विधानसभा चुनाव के पांचवें चरण में 49.84 प्रतिशत मतदान हुआ. 35 सीटों पर मतदान के दौरान कई जगह लोगों ने चुनावों का बहिष्कार भी किया. इस चरण में छिटपुट हिंसा की खबरें भी मिली हैं.

default

इन सीटों में माओवाद प्रभावित 17 सीटों में राजौली में 47 प्रतिशत, गोविंदपुर में 45 प्रतिशत, अरवल में 43 प्रतिशत, कुरथा में 41 प्रतिशत, जहानाबाद में 45 प्रतिशत, घोसी में 54.3 प्रतिशत, मखदूमपुर में 51 प्रतिशत, बोधगया में 51 प्रतिशत, फुलवरिया में 52.28 प्रतिशत, मसौढ़ी में 53.04 प्रतिशत, पालीगंज में 50.28 प्रतिशत, अटारी में 47 प्रतिशत, बिक्रम में 52 प्रतिशत, इस्लामपुर में 50 प्रतिशत, हिल्सा में 50.04 प्रतिशत, बेलागंज में 49 प्रतिशत और वजीरगंज में 49 प्रतिशत मतदान हुआ. अतिरिक्त चुनाव अधिकारी कुमार अंशुमाली में यह जानकारी दी.

पांचवें चरण में जिन अहम उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला ईवीएम मशीनों में बंद हो गया उनमें जेडीयू के मंत्री हरि नारायण सिंह (हरनौत), जीतन राम मांझी (मखदूमपुर), भगवान सिंह कुशवाहा (जगदीशपुर) और बीजेपी के मंत्री प्रेम कुमार (गया टाउन) शामिल हैं.

राज्य के डीजीपी नीलमणि ने बताया कि छिटपुट घटनाओं को छोड़ कर चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से पूरा हो गया. कुरथा सीट पर 124 मतदान केंद्र पर सुभाष शर्मा नाम के एक व्यक्ति की अज्ञात बंदूकधारियों ने गोली मार कर हत्या कर दी, लेकिन इस घटना का चुनाव से कोई संबंध नहीं था.
कुल मिला कर 292 लोगों को हिरासत में लिया गया और 125 वाहन जब्त किए गए जिनमें 86 मोटर साइकल हैं. सूत्रों का कहना है कि एलजेपी प्रमुख रामविलास पासवान के दामाद और पार्टी उम्मीदवार मृणाल पासवान को राजगीर सीट पर सात लोगों के साथ हिरासत में लिया गया. उन पर गड़बड़ी फैलाने का आरोप है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ए कुमार

संपादन: महेश झा

DW.COM

WWW-Links