1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

पश्चिम बंगाल निकाय चुनावों में हिंसा

पश्चिम बंगाल में 81 स्थानीय निकायों के लिए हुए मतदान के दौरान कई स्थानों पर हिंसा हुई. 2011 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले बेहद अहम माने जा रहे हैं ये चुनाव. कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस और लेफ्ट पार्टियां मैदान में.

default

पश्चिम बंगाल के 81 निकायों और कोलकाता म्युनिसिपल कारपोरेशन के 141 वार्डों के लिए वोटिंग सुबह सात बजे शुरु हुई. कई स्थानों पर ईवीएम मशीन खराब निकलने की भी रिपोर्टें मिली हैं जिससे लोगों में खासा रोष देखा गया. केंद्र में यूपीए गठबंधन सरकार में कांग्रेस की सहयोगी ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस पश्चिम बंगाल निकाय चुनावों में कांग्रेस के खिलाफ चुनाव मैदान में है जिससे टक्कर और दिलचस्प हो गई है.

बर्दवान में तृणमूल कांग्रेस और सीपीएम कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़प में नौ लोग घायल हुए हैं. इनमें दो पुलिसकर्मी और तृणमूल कांग्रेस उम्मीदवार भी है. हिंसा जमुरिया में मतदान के दौरान हुई.

पुलिस के मुताबिक श्रीपुर में भी वोटिंग के समय दो पक्ष आपस में भिड़ गए और जब पुलिस बीचबचाव करने वहां पहुंची तो पुलिस पर पथराव किया गया. पुलिस की दो गाड़ियों को नुकसान पहुंचा है. हिंसा के दौरान देसी बमों का भी इस्तेमाल किया गया. कोलकाता के भी कुछ इलाकों से हिंसा की रिपोर्टें मिली हैं और वहां 13 लोगों को हिरासत में लिया गया है.

श्रीपुर पुलिस स्टेशन के अधिकारी साकेत रे और एक अन्य पुलिसकर्मी पत्थरबाजी में घायल हुए. तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार साधन चंद्र रे भी हिंसा में घायल हुए. करीब 6 गांववालों को भी इस झड़प में चोटें आई हैं. पुलिस ने लाठी चार्ज कर स्थिति को संभाला और 6 लोगों को हिरासत में लिया है.

जिन स्थानों पर हिंसा हुई है वहां स्थिति को काबू में करने के लिए और सुरक्षाकर्मियों को भेजा गया है. हिंसा के बावजूद लोगों के उत्साह में कोई कमी नहीं देखी गई और मतदान केंद्रों के बाहर लंबी लाइने लगी. तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने घर घर जाकर उनके समर्थकों को पीटा है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संबंधित सामग्री