1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

पशुओं की रक्षा के लिए वाइल्डलीक्स

विकीलीक्स की तर्ज पर वाइल्डलीक्स नाम की वेबसाइट शुरू हुई है. पशुओं के संरक्षण के लिए काम कर रहे कुछ अंतरराष्ट्रीय संगठनों ने मिलकर वन्य अपराधों को रोकने की यह नई तरकीब निकाली है.

चाह कर भी कई लोग जानवरों के खिलाफ हो रहे अत्याचार को अक्सर रोक नहीं पाते हैं. ऐसे में वाइल्डलीक्स जानवरों की तस्करी, शिकार या उन पर किसी अन्य प्रकार के अत्याचार को रोकने की दिशा में उठाया गया नया कदम है. लोग इस वेबसाइट पर बगैर अपना नाम बताए जानकारी दे सकते हैं.

छह फरवरी को लॉन्च हुई वाइल्डलीक्स को आर्थिक मदद देने वाली अमेरिकी संस्था एलीफैंट ऐक्शन लीग (ईएएल) है. इस संगठन को चलाने वाले लोगों में से कुछ पूर्व में कानूनी अधिकारी, पत्रकार तो कुछ पर्यावरण संबंधी गैर सरकारी संगठन के सदस्य रहे हैं.

गोपनीयता पर ध्यान

दुनिया भर में पशुओं के गैर कानूनी शिकार और तस्करी से सालाना करीब 17 अरब डॉलर का कारोबार हो रहा है. ईएएल के सह संस्थापक आंद्रेया क्रोस्ता ने बताया, "वाइल्डलीक्स का मकसद है, जानवरों की तस्करी करने वालों, भ्रष्ट सरकारी अधिकारियों और हर उस इंसान को गिरफ्तार करवाना, जो जंगलों में होने वाले अपराध में शामिल हैं."

Nagarhole-National-Park (Bildergalerie)

पशुओं के संरक्षण के लिए वाइल्डलीक्स की शुरुआत

कोई भी व्यक्ति जिसके पास वन्य जीवन से जुड़े अपराध के बारे में कोई जानकारी, फोटो या वीडियो हैं, वो विकीलीक्स पर अपनी जानकारी डाल सकते हैं. जानकारी देने वाले को अपना नाम भी बताने की जरूरत नहीं होगी. पूरी तरह से सुरक्षित इस सिस्टम के रूट में डार्कनेट तकनीक का इस्तेमाल किया गया है. इससे जानकारी भेजने वाले का आइपी एड्रेस और कोई भी अन्य जानकारी नहीं मिल सकती है. क्रोस्ता ने बताया, "हम जानकारी देने वालों को पूरी तरह से गोपनीयता बनाए रखने के लिए प्रोत्साहित करते हैं. खासकर तब जब वे ऐसे इलाकों में रहते हों जहां वन्य अपराधों में खुद सरकार भी शामिल हो."

विकीलीक्स से अलग

हालांकि वाइल्डलीक्स का नाम विकीलीक्स के नाम से प्रेरित है लेकिन इसका काम करने का तरीका अलग है. विकीलीक्स पिछले कुछ सालों में अमेरिकी सरकार के दस्तावेजों के बारे में जानकारी लीक करने के लिए भी चर्चा में रही. क्रोस्ता कहते हैं, "सबसे पहली बात तो यह कि हम सरकार या सेना के दस्तावेजों के पीछे नहीं हैं. दूसरी बात यह कि विकीलीक्स हर बात सीधे तौर पर मीडिया से बांट लेता है, हमारे लिए वह सिर्फ एक आखिरी रास्ता होगा."

जब वाइल्डलीक्स के पास कोई जानकारी आती है तो संस्था उसकी सच्चाई के बारे में पता लगाती है. खबर पक्की होने पर वाइल्डलीक्स वह जानकारी विश्वसनीय सरकारी संगठनों या इंटरपोल जैसी कानूनी एजेंसियों के पास भेज देती है. हालांकि सरकार के साथ न देने या आना कानी करने पर यह जानकारी मीडिया को सौंप दी जाएगी.

क्रोस्ता ने कहा, "यह समझना जरूरी है कि हमारा मकसद दुनिया भर की कानूनी संस्थाओं को साथ लेकर चलना है. हम लोगों और कानून के बीच पुल बनाना चाहते हैं." अभी तक इस प्रोजेक्ट पर अच्छी प्रतिक्रिया आई है.

अमेरिका की सबसे बड़ी पशु संरक्षण संस्था ह्यूमन सोसाइटी ऑफ यूनाइटेड स्टेट्स (एचएसयूएस) का कहना है, "वन्य अपराधों से जुड़ी कोई भी जानकारी कानूनी संगठनों तक पहुंचाने वालों को हम प्रोत्साहित करते हैं."

अंतरराष्ट्रीय प्रयास

11 फरवरी से ब्रिटेन सरकार द्वारा आयोजित एंटी वाइल्ड लाइफ क्राइम कांफ्रेंस लंदन में शुरू हुई. पिछले कुछ महीनों में वन्य अपराधों के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई बड़े कदम उठाए गए हैं. पिछले महीने चीन में बरामद गैरकानूनी हाथी दांत का बड़ा भंडार नष्ट किया गया. इसके अलावा अमेरिकी सरकार ने भी नवंबर में ऐसा ही कदम उठाया. कार्यकर्ता अंतरराष्ट्रीय प्रयासों की सराहना कर रहे हैं और इन्हें और गति देने की कोशिश कर रहे हैं.

चीनी सरकार के कदमों की सराहना करते हुए वाइल्ड एड के उपनिदेशक पीटर नाइट्स ने कहा, "हर बड़े सफर की शुरुआत एक छोटे कदम से होती है. यह चीन का बहुत अहम कदम है और इसकी तारीफ होनी चाहिए."

एसएफ/एएम (एईपीएस)

DW.COM