1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

पवार की हिस्सेदारी की बात बकवास: माल्या

आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के मालिक विजय माल्या ने अपनी फ्रेंचाइजी में कृषि मंत्री शरद पवार की हिस्सेदारी होने की रिपोर्टें खारिज कर दी है. शरद पवार ने बैंगलोर फ्रेंचाइजी में कुछ शेयर होने की बात मानी है.

default

विजय माल्या

विजय माल्या ने अपनी फ्रेंचाइजी में शरद पवार की हिस्सेदारी होने की रिपोर्टों को बकवास बताया है. पवार ने एक चैनल के साथ बातचीत में माना है कि रॉयल चैंलेजर्स बैंगलोर की मालिक कंपनी यूनाइटेड स्पिरीट्स लिमिटेड में उनके 51,000 शेयर हैं जिनकी कीमत लगभग 6 करोड़ रुपये बैठती है.

Royal Challengers Bangalore's Anil Kumble and Rahul Dravid

माल्या ने कहा है कि उनकी कंपनी में किसी के शेयर होने का अगर कोई मतलब निकाले की वह आईपीएल टीम में हिस्सेदारी भी रखता है तो इसे बकवास ही कहा जाएगा.

विजय माल्या ने कहा, "शरद पवार पारदर्शी होने का प्रयास कर रहे हैं नहीं तो मीडिया कहेगा कि उनकी किसी और आईपीएल टीम में भी हिस्सेदारी है." माल्या के मुताबिक इस मामले को हवा देकर तिल का ताड़ बनाया जा रहा है. "अगर हम इस तर्क को मानें तो फिर यूनाइटेड ब्रेवरीज कंपनी का हर शेयरधारक रॉयल चैंलेजर्स बैंगलोर का मालिक बन जाएगा क्योंकि कंपनी शेयरधारकों की ही होती है.

यह कहना कि शरद पवार ने गुपचुप तरीके से हिस्सेदारी हासिल की है बिलकुल बकवास है." जब माल्या से पूछा गया कि क्या शरद पवार की सहायता से ही उन्हें रॉयल चैंलेजर्स बैंगलोर की फ्रेंचाइजी मिली तो माल्या ने कहा कि उन्हें किसी की मदद की जरूरत नहीं है.

आईपीएल में नित नए विवादों के सामने आने पर माल्या ने कहा कि सिर्फ क्रिकेट पर ही ध्यान देना चाहिए और ऐसे छोटे मोटे विवादों को भूल जाना चाहिए. "जिस तरह आरोप प्रत्यारोप के दौर चल रहे हैं वह बिलकुल पागलपन है. ललित मोदी और बीसीसीआई को शांत रहने की जरूरत है, एक दूसरे की बात सुननी चाहिए, एक दूसरे के जवाबों का अध्ययन करना चाहिए और दिमाग से काम लेना चाहिए."

हाल के दिनों में शरद पवार पर आरोप लगे हैं कि आईपीएल में पुणे फ्रेंचाइजी के लिए हुई नीलामी प्रक्रिया में वह भी परोक्ष रुप से शामिल रहे हैं. माल्या का कहना है कि पवार की हिस्सेदारी होने के बारे में सोचना बिलकुल बेसिरपैर की बात है.

कृषि मंत्री शरद पवार और उनकी बेटी और सांसद सुप्रिया सुले पर आरोप हैं कि पुणे की रियल एस्टेट कंपनी में उन्होंने 16 फीसदी हिस्सेदारी की बात सार्वजनिक नहीं की. इसी कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पुणे फ्रेंचाइजी के लिए विफल बोली लगाई. हालांकि बीसीसीआई अध्यक्ष शशांक मनोहर का कहना है कि सिटी कॉरपोरेशन कंपनी ने ही पुणे फ्रेंचाइजी के लिए बोली लगाई.

रिपोर्ट: पीटीआई/एस गौड़

संपादन: महेश झा

संबंधित सामग्री