1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

पड़ोसी चुस्त तो दिल दुरुस्त

क्या आपको कभी लगा है कि पड़ोसी की हरकतें आपकी मौत की वजह बन सकती है? यह चिंता का कारण हो सकता है. शोधकर्ताओं ने अच्छे पड़ोसी और स्वस्थ दिल के बीच रिश्ता ढूंढ निकाला है.

महामारी विज्ञान और सामुदायिक स्वास्थ्य पत्रिका में छपे शोध के मुताबिक, "अच्छे पड़ोसी का होना और स्थानीय समुदाय में एक दूसरे से लगाव रखना व्यक्ति में हार्ट अटैक के जोखिम को नियंत्रण में रखने में मदद करता है." विश्व भर में हृदय और रक्त वाहिका के रोग मृत्यु का नंबर एक कारण हैं. ग्लोबल बर्डेन ऑफ डिजीज के ताजा शोध के मुताबिक साल 2010 में इन रोगों की वजह से करीब 1.5 करोड़ लोगों की मौत हुई.

शोध के लेखकों का कहना है कि पड़ोस और स्वास्थ्य पर पहले हुए शोध नकारात्मक प्रभावों पर केंद्रित थे. जिनमें फास्ट फूड रेस्तरां के घनत्व, शोर, ट्रैफिक, खराब वायु गुणवत्ता और ड्रग्स के इस्तेमाल जैसे विषय थे. इस ताजा शोध के लिए यूनिवर्सिटी ऑफ मिशिगन की टीम ने 50 वर्ष के ऊपर 5,276 लोगों के डाटा का इस्तेमाल किया. शोध में शामिल हुए लोगों का हृदय रोग समस्या का कोई इतिहास नहीं था.

शोधकर्ताओं ने समूह में शामिल औसतन 70 वर्ष की शादीशुदा महिलाओं के हृदय स्वास्थ्य की निगरानी की. इन लोगों की 2006 से अगले चार साल तक निगरानी की गई. इस निगरानी के दौरान 148 लोग हार्ट अटैक के शिकार हुए. इस प्रोजेक्ट की शुरुआत में शोध में शामिल होने वाले लोगों से पड़ोसियों के साथ रहने के अनुभवों के बारे में सवाल किए गए और उन्हें अंक देने को कहा गया.

सवालों में पड़ोस के माहौल, तकलीफ में पड़ने पर पड़ोसी पर भरोसा, पड़ोसी पर विश्वास और पड़ोसी का दोस्ताना व्यवहार शामिल था. हर सवाल के लिए शोध में शामिल होने वाले लोगों के पास एक से लेकर सात प्वाइंट देने का विकल्प था. शोध के आखिर में जब शोधकर्ताओं ने अंकों पर काम किया तो उन्होंने पाया कि सात अंकों के भीतर हर एक प्वाइंट देने वालों में अध्ययन अवधि के दौरान हार्ट अटैक का जोखिम कम था.

सात में से एक प्वाइंट देने वालों के मुकाबले सात में से सात अंक देने वालों में हार्ट अटैक का खतरा 67 फीसदी कम था. शोध के सह लेखक एरिक किम इसे महत्वपूर्ण बताते हैं. शोधकर्ताओं ने एक बयान में कहा, "यह एक अवलोकनात्मक अध्ययन है, तो कारण और प्रभाव के बारे में कोई निश्चित निष्कर्ष नहीं निकाला जा सकता है." शोधकर्ताओं के पास शोध में शामिल होने वाले लोगों के परिवार के हृदय रोग और स्ट्रोक का कोई इतिहास नहीं था.

अच्छे पड़ोसाना रिश्तों से दिल के मजबूत रहने की ठोस वजह भी है. शोधकर्ताओं का कहना है कि पड़ोसी के साथ लगाव शारीरिक गतिविधियों को बढ़ाने में मददगार साबित होता है. इसमें बागबानी और पैदल चलना भी शामिल है. पैदल चलने से हृदय स्वस्थ रहता है और रोग दूर रहते हैं.

एए/एमजे (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री