1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

पकड़ी गई हाई टेक सुरंग

चीन में तस्करों ने पांच लाख डॉलर खर्च कर और चार महीने की मशक्कत के बाद ने सीमेंट की एक मजबूत सुरंग बनाई. उसके भीतर पटरी बिछाई और रेल ट्रॉली भी लगा दी लेकिन कारोबार शुरू करने से पहले ही सुरंग का राज खुल गया.

तस्करों ने चीन और हांगकांग की सीमा पर इंजीनियरिंग का नमूना पेश करते हुए 40 मीटर लंबी सुरंग तैयार की. सुरक्षा के लिए उसकी कंक्रीट से चिनाई की. रोशनी का बढ़िया इंतजाम किया. कस्टम अधिकारियों को चकमा देने के बनाई गई इस सुरंग में छोटी सी रेल ट्रॉली भी फिट की गई.

स्थानीय मीडिया के मुताबिक सुरंग के जरिए तस्कर चीन के शेनझेन से हांगकांग तक सस्ते इलेक्ट्रॉनिक उपकरण पहुंचाना चाहते थे. बड़े पैमाने पर तेज तर्रार ढुलाई के लिए रेल ट्रॉली फिट की गई. सीमित स्वायत्तता वाला हांगकांग दुनिया के सबसे तेज बाजारों में से एक है. चीन और हांगकांग के बीच सेवाओं और सामान के दामों में भारी अंतर है. अनुमान है कि तस्कर इसी का फायदा उठाकर मोबाइल फोन और टेबलेट कंप्यूटरों की तस्करी करना चाह रहे थे.

चीन की एक वेबसाइट के मुताबिक, सुरंग "पूरी तरह पेशेवर अंदाज में खोदी गई." प्रशासन के मुताबिक सुरंग एक मीटर ऊंची और 80 सेंटीमीटर चौड़ी है. तस्करी का ये तंत्र तैयार करने में 4,90,000 डॉलर का खर्चा आया होगा.

शेनझेन के पुराने गैराज से शुरू होती इस सुरंग का सुराग चीन के अधिकारियों को हफ्ते भर पहले चला. एक महिला ने शिकायत करते हुए कहा कि ड्रिलिंग की तेज आवाज से उसे बहुत परेशान हो रही है. अधिकारियों ने जब इलाके में खुदाई की योजनाओं पर गौर किया तो पता चला कि यहां तो आधिकारिक तौर पर कोई ड्रिलिंग हो ही नहीं रही है. बस यहीं से सुरंग बनाने वालों का खेल खराब हुआ. अब तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई. गैराज किराये पर लेने वाले लोगों ने फर्जी पहचान का सहारा लिया.

ओएसजे/एमजे (एएफपी)

संबंधित सामग्री