1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

पंगा लेने से दिल के दौरे का खतरा

अगर स्वभाव झगड़ालू है और बात बात में अड़ियल रवैया अपनाने वाले हैं, तो खुद को बदलने में ही भलाई है. बिना बात पंगा लेने और आक्रामक हो जाने वालों को दिल का दौरा ज्यादा पड़ता है. ताजा रिसर्च में यह बात सामने आई.

default

झगड़ालू होना ठीक नहीं

इटली के सर्डीनिया में दिल का दौरा पड़ने पर अहम रिसर्च हुई है. अमेरिका की नेशनल इंस्टीट्यूट ऑन एजिंग की तरफ से हुए अध्ययन में 5,614 लोगों की जांच की गई.

जिन लोगों ने टेस्ट के दौरान कहा कि वे आक्रामक तेवर के हैं, उनके गले की धमनी जल्दी फैल जाती है लेकिन उन लोगों की नहीं, जो आम तौर पर संयमित रहते हैं और जल्दी झगड़ा करने के लिए उतावले नहीं होते.

Bildgalerie Jahresrückblick 2008 Oktober Deutschland

अमेरिकी हृदय संस्थान की पत्रिका हाइपरटेंशन में प्रकाशित रिसर्च के मुताबिक धमनियों के फैलाव से दिल का दौरा पड़ने और स्ट्रोक की संभावना बढ़ जाती है. पहले टेस्ट के तीन साल बाद पाया गया कि जो लोग कम समझौता करने वाले हैं, खास कर वे लोग जो जल्दी गुस्सा जाहिर कर देते हैं, उनकी धमनियों का फैलाव जारी था.

जिन लोगों पर टेस्ट किया गया, उनमें से 10 प्रतिशत लोग बहुत आक्रामक रवैये वाले थे. उनकी धमनियों के फैलाव की संभावना 40 फीसदी ज्यादा मिली. रिसर्च में लगी डॉक्टर एंजेलीना सुटिन ने कहा, "जो लोग प्रतिद्वंद्वात्मक स्वभाव के थे और जो अपने हित के लिए ज्यादा संघर्ष करने की कोशिश करते थे, उनकी धमनियों का ज्यादा फैलाव हुआ. इससे दिल की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है."

सुटिन के मुताबिक, "जो लोग समझौता करने के स्वभाव वाले होते हैं, सीधी सपाट बात करते हैं और दूसरों के हित के बारे में सोचते हैं, उनकी स्थिति अच्छी होती है. जो समझौता नहीं करते, सिर्फ अपने बारे में सोचते हैं, गुस्सैल होते हैं, उनके साथ जोखिम बढ़ जाता है."

जिन लोगों को अध्ययन में शामिल किया गया, उनकी उम्र 14 से 92 साल के बीच थी. इनमें से 58 फीसदी महिलाएं थीं.

रिपोर्टः एएफपी/ए जमाल

संपादनः एन रंजन