1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

न्यूज़ीलैंड सबसे शांतिप्रिय देश

2010 के ग्लोबल पीस इन्डेक्स में न्यू ज़ीलैंड को सबसे शांतिप्रिय देश करार किया गया है. यह सूचकांक इंस्टीटूट फॉर इकोनोमिक्स एंड पीस ने इकोनोमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट के आंकड़ों से संकलित किया है.

default

लन्दन के 2010 के ग्लोबल पीस इन्डेक्स में न्यू ज़ीलैंड को सबसे शांतिप्रिय देश करार किया गया है. आज पेश की गई रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि सारी दुनिया भर में शांति में भारी कमी आई है. हत्या, हिंसक प्रदर्शनों और अपराधों में वृद्धि को इसका मुख्य कारण बताया गया है.

ऑस्ट्रेलिया के मशहूर उद्योगपति स्टीव किलेलिया का इस सूचकांक को तैयार करने में एक प्रमुख भूमिका रही है. वे कहते हैं, "हमें इस संकट के समय का आभास है, और इसे काबू में लाना मुमकिन नहीं है. हमारा लक्ष्य यह है कि नए तरीकों से हम इससे निपट सकें."

ग्लोबल पीस इन्डेक्स रक्षा बजट, पड़ोसी देशों के साथ ताल-मेल और मानव अधिकारों के ने आदर जैसे सूचकों का परीक्षण करता है. यह सूचकांक इंस्टीटूट फॉर इकोनोमिक्स एंड पिस ने इकोनोमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट के आंकड़ों से संकलित किया है. सूचकांक के मुताबिक अपराधों पर काबू पाने के लिए हर साल 7 खरब डालर खर्च करने पड़ते हैं. उनका कहना है कि अगर दुनिया में हिंसा में 25 प्रतिशत कटौती हो, तो हम सालाना 1.7 खरब डालर बचा सकते हैं. जो ग्रीस के ऋण को पाटने के लिए काफ़ी होगा.

न्यू ज़ीलैंड के बाद आइसलैंड और जापान को सबसे शांति प्रिय देश करार किया गया है. और माना जा रहा है कि साल 2010 में इथियोपिया एक ऐसा देश रहा है, जहां विकास तेजी से हो रहा है. सूचकांक के मुताबिक अफ्रीका और मध्य पूर्व ऐसे दो क्षेत्र हैं जहाँ २००७ से लेकर सुरक्षा की स्थिति में सबसे अधिक बेहतरी देखी गई है.

आंकड़ो के मुताबिक ईराक, सोमालिया, अफग़ानिस्तान और सुडान ऐसे देश हैं, जहाँ शांति का सबसे अधिक अभाव देखने को मिला है. 2007 से 2010 तक सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले क्षेत्रों में दक्षिण एशिया का नाम लिया गया है. इसका मुख्य कारण श्रीलंका, पाकिस्तान और भारत में भी बढ़ती हिंसा और अशांति है.

स्टीव किलेलिया का इसकी ओर भी ध्यान दिलाया है कि दुनिया के सैनिक खर्च का 54 प्रतिशत अकेले अमेरिका के खाते में जाता है, जो इराक, अफ़ग़ानिस्तान और दूसरे देशों में सशस्त्र संघर्ष में लिप्त है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/जैसू भुल्लर

संपादन: उज्ज्वल भट्टाचार्य

संबंधित सामग्री