1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

न्यूयॉर्क का हमलावर क्या चाहता था?

अमेरिकी जांच अधिकारी उस ड्राइवर की मंशा जानने में जुटे हैं जिसने वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के पास साइकिल लेन में पिक अप ट्रक घुसा कर आठ लोगों की जान ले ली और 11 लोगों को जख्मी कर दिया.

हमलावर के पास एक एयर गन थी जिसे वह हवा में लहराते हुए अरबी में "अल्लाह हो अकबर" के नारे लगा रहा था. स्थानीय समय के मुताबिक मंगलवार दोपहर को यह घटना हुई और इस ड्राइवर की पहचान उज्बेक अप्रवासी के रूप में हुई है. सुरक्षा बलों की कार्रवाई के दौरान उसके पेट में गोली लगी थी लेकिन अधिकारियों का कहना है कि उसकी जान बच जाएगी.

मैनहट्टन में हाईवे के करीब 3 किलोमीटर के हिस्से को पुलिस की जांच के लिए बंद कर दिया गया. अधिकारियों ने न्यू जर्सी के एक घर और न्यू जर्सी के होम डिपो स्टोर की पार्किंग में खड़ी एक वैन की तलाशी ली है. अधिकारी उस ट्रक में मिले एक नोट की भी पड़ताल कर रहे हैं. हमला करने के लिए जिस ट्रक का इस्तेमाल किया गया वह किराये पर लिया गया था. पुलिस और एफबीआई ने आम लोगों से अपील की है कि इस शख्स या फिर हमले से जुड़ी कोई भी जानकारी, फोटो या वीडियो अगर किसी के पास हो तो उसे जांच अधिकारियों को दे दें.

हमले का तरीका वही है जिसे अपनाने की सलाह इस्लामिक स्टेट अपने समर्थकों को दे रहा है. पुलिस ने अभी किसी संगठन पर आरोप नहीं लगाया है. हालांकि राष्ट्रपति ट्रंप ने इस्लामिक स्टेट की तरफ इशारा करते हुए उसके खिलाफ सख्ती की बात जरूर की है. ट्रंप ने कहा है, "बहुत हुआ."

राष्ट्रपति ट्रंप ने इस घटना के बाद अप्रवासियों की जांच सख्त करने के आदेश दिये हैं.  हमले के पीड़ित अलग अलग देशों के हैं, इनमें एक शख्स बेल्जियम का है जबकि पांच लोग अर्जेंटिना के हैं. अर्जेंटिना के लोग अपनी स्कूली पढ़ाई पूरी होने की 30वीं सालगिरह मनाने यहां इकट्ठे हुए थे. घायलों में एक छात्र और स्कूल बस में सवार कुछ स्कूल के कर्मचारी भी हैं. ट्रक ने इस स्कूल बस को भी टक्कर मारी थी. मेयर बिल डे ब्लासियो ने कहा है, "यह एक आतंकी कार्रवाई थी और बिल्कुल कायराना आतंकी कार्रवाई थी जिसका मकसद बेकसूर आम लोगों को निशाना बनाना था."

नाम जाहिर ना करने की शर्त पर कुछ जांच अधिकारियों ने समाचार एजेंसी एपी को बताया कि दाढ़ी वाले हमलावर का नाम सैफुल्लो साइपोव है. उसकी उम्र 29 साल है और वह वैध तरीके से 2010 में अमेरिका आया. उसके पास फ्लोरिडा का ड्राइविंग लाइसेंस है लेकिन संभवत: वह न्यू जर्सी में रह रहा था. दस्तावेजों से पता चला है कि साइपोव एक कमर्शियल ट्रक ड्राइवर था जिसने ओहायो में कुछ दिन व्यापार किया उसने टैक्सी सेवा देने वाली कंपवी ऊबर के लिए भी गाड़ी चलाई थी. ओहायो में उसकी शादी के दस्तावेजों से पता चलाता है कि उसने एक उज्बेक लड़की से 2013 में शादी की थी. वह फ्लोरिडा के फोर्ट मायर्स में भी रहा था. बाद में वह न्यू जर्सी आ गया और उसने उबर में नौकरी कर ली. उबर ने अपने बयान में कहा है कि उसने छह महीने पहले उसके यहां काम करना शुरू किया था.

पुलिस ने बताया है कि हमलावर ने यह ट्रक दोपहर में दो बजे न्यू जर्सी के होम डिपो से किराये पर लिया और न्यूयॉर्क आया. एक घंटे बाद यहां उसने ट्रक साइकिल लेन में घुसा दी और तेज गती से वर्ल्ट ट्रेड सेंटर वाली जगह की ओर बढ़ा. वह करीब एक किलोमीटर तक चलता गया जिसके बाद एक स्कूल बस से उसकी टक्कर हो गयी.

वहां मौजूद 12 साल के एक छात्र ने बताया, "एक शख्स कार से बाहर निकला, उसके हाथ में दो बंदूकें थी और वह चिल्ला रहा था." इस घटना के बाद वहां अफरातफरी मच गयी, लोग साइकिलें छोड़ कर भागे. कई लोग आपस में टकराये भी.

ट्रक के अंदर हाथ से लिखी एक पर्ची मिली है जिसमें किसी विदेशी भाषा में कुछ लिखा है, पुलिस उसकी पड़ताल कर रही है.

एनआर/आईबी (एपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री