1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

न्यूजीलैंड की सरकार ने जताई बेबसी

दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के खिलाफ नस्ली बयान देने वाले एंकर पर कार्रवाई करने में न्यूजीलैंड की सरकार ने बेबसी जताई है. विदेश मंत्री ने कहा बोलने की आजादी मौलिक अधिकार है और उनके हाथ बंधे हुए हैं.

default

विदेश मंत्री मर्रे मैक्कुली ने कहा कि पॉल हेनरी का बयान बोलने की आजादी के मौलिक अधिकार का दुरूपयोग है लेकिन सरकार के हाथ बंधे हुए हैं. वो एक पत्रकार को बोलने से नहीं रोक सकती. हेनरी के खिलाफ कार्रवाई करने का अधिकार टीवी चैनल के पास ही है. हालांकि विदेश मंत्री ने भारत में न्यूजीलैंड के उच्चायुक्त की तरफ से मांगी गई माफी पर अपनी तरफ से मुहर लगाते हुए कहा कि सरकार को इस बात का बेहद अफसोस है. पॉल हेनरी ने ये बयान सरकारी टेलिविजन के कार्यक्रम में दिया लेकिन सरकार का कहना है कि न्यूजीलैंड के टीवी चैनल कामकाज स्वतंत्र संस्थाएं देखती हैं और सरकार इसमें दखल नहीं देती.

इससे पहले भारत में न्यूजीलैंड के उच्चायुक्त रूपर्ट हॉलबोरो ने अपनी तरफ से इस घटना पर गहरा दुख जताते हुए माफी मांगी है. रूपर्ट ने कहा," एंकर का बयान अनुचित, असंवेदनशील, और भद्दा है. निश्चित रूप से न्यूजीलैंड की सरकार का विचार इस बयान के विचारों से मेल नहीं खाता." विदेश मंत्रालय से जारी एक बयान में ये बात कही गई है.

टीवी एंकर पॉल हेनरी ने जान बूझकर शीला दीक्षित का नाम लेकर उनका मजाक उड़ाया. पॉल हेनरी को इससे पहले भारतीय मूल के गवर्नर जनरल सर आनंद सत्यानंद के खिलाफ नस्ली बयान के लिए सस्पेंड भी किया जा चुका है. पॉल के इस बयान पर कड़ी आपत्ति जताते हुए विदेश मंत्री एस एम कृष्णा ने अपने मंत्रालय से एंकर के बयान पर भारत की नाखुशी जताने का निर्देश दिया है.

Der indische Außenminister S. M. Krishna

भारतीय विदेश मंत्री ने कड़ी कार्रवाई की मांग की

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक न्यूजीलैंड के उच्चायुक्त ने भारत के पूर्वी मामलों के सचिव विजयलता रेड्डी से मुलाकात की है. इस मुलाकात में उच्चायुक्त को भारत के विरोध की जानकारी दी गई.

विदेश मंत्रालय से जारी बयान में कहा गया है," इस तरह के बयान को भारत किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं कर सकता और सभी लोगों और देशों को इसकी कड़ी शब्दो में निंदा करनी चाहिए. हम उम्मीद करते हैं कि न्यूजीलैंड की सरकार उस शख्स के खिलाफ तुरंत ऐसा कदम उठाएगी जिससे कि ये पता चल सके कि उसे भी इस तरह के बयान कबूल नहीं हैं."

एंकर के बयान से हुए दुख पर गहरा अफसोस जताते हुए न्यूजीलैंड के उच्चायुक्त ने कॉमनवेल्थ खेलों के आयोजन में दिल्ली की मुख्यमंत्री की भूमिका की सराहना की.

न्यूजीलैंड में भारत के उच्चायुक्त ने भी वहां की सरकार को भारत की नाराजगी की जानकारी दे दी है.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः उ भट्टाचार्य

DW.COM

WWW-Links