1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

नौकरी देने में एनसीआर नंबर वन

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र यानी दिल्ली और उसके आसपास का इलाका नौकरी देने के मामले में देशभर में सबसे आगे हैं. व्यापार संगठन एसोचैम की एक रिपोर्ट ये बात सामने आई है. देश के बाकी महानगर इससे काफी पीछे हैं.

default

दिल्ली और उसके आसपास का इलाका देश में सबसे ज्यादा नौकरी देने वाले इलाका बन गया है. इसमें दिल्ली के अलावा नोएडा, गाजियाबाद, गुड़गांव, बहादुरगढ़, फरीदाबाद और दूसरे इलाके शामिल हैं. इस साल अप्रैल से अगस्त के बीच की तिमाही में नौकरियों के आंकड़े इस बात की पुष्टि कर रहे हैं. एसोचैम के सर्वे में ये सामने आया है कि कुल नौकरियों में 34.2 फीसदी एनसीआर में पैदा हुईं. इसके बाद दूसरा नंबर मुंबई का है जिसने 12.7 फीसदी रोजगार के मौके बनाए. तीसरे नंबर पर 6.12 फीसदी नौकरियों के साथ चेन्नई है जबकि सबसे पीछे है कोलकाता जिसने केवल 4.19 फीसदी नौकरियों के मौके बनाए. इन आंकड़ों के लिए तय समय में साठ शहरों के 2 लाख 40 हजार 314 नौकरियों की पड़ताल की गई.

Gateway of India in Bombay

मुंबई और दूसरे महानगर काफी पीछे

एसोचैम के महासचिव डी एस रावत के मुताबिक, " सभी स्तरों पर नौकरियों के मौके पैदा हो रहे हैं. इनमें मैनेजमेंट के उच्च, मध्य और निचले स्तर तक की नौकरियां शामिल हैं." रावत ने उम्मीद जताई है कि नौकरियों में इजाफे का ये दौर कम से कम अगले छह महीने तक जारी रहेगा.

सबसे ज्यादा नौकरियां देने के मामले में आईटी सेक्टर अव्वल है. एसके बाद इंजीनियरिंग, टेक्सटाइल, निर्माण, बुनियादी ढांचा, एयरलाइन और शिक्षा शामिल है. नई नौकरी पाने वालों में 50.07 फीसदी लोगों को आईटी या आईटी से जुड़े दूसरे कामों में नौकरी मिली है. इसके अलावा आयात निर्यात का धंधा एक बार फिर पटरी पर लौट रहा है. इसके कारण भी लोगों को खूब सारी नई नौकरियां मिली हैं.

हालांकि टेलिकॉम, एफएमसीजी, बैंकिंग और सामान ढुलाई वाले सेक्टरो में नई नौकरियां पैदा होने के दर में कमी आई है. एसोचैम ने उम्मीद जताई है कि आने वाले दिनों में ये तस्वीर बदल सकती है.

रिपोर्टः एजेंसियां/ एन रंजन

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links