1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

नैटो कमांडर मैकक्रिस्टल से नाराज ओबामा

अफगानिस्तान में तैनात नैटो को टॉप कमाडंर जनरल स्टैनली मैकक्रिस्टल पर भड़के ओबामा. मैक्रिस्टल को वॉशिंगटन बुलाकर ओबामा ने अपनी नाराजगी जताई. बयान से उपजा विवाद. मैक्रिस्टल ने इस्तीफा देने की पेशकश की.

default

फंसे मैकक्रिस्टल

मंगलवार को व्हाइट हाउस के प्रवक्ता रॉबर्ट गिब्स ने कहा कि मैक्रिस्टल के बयान से राष्ट्रपति 'नाराज' हैं. गिब्स ने कहा, ''इसमें कोई शक नहीं है कि जनरल मैक्रिस्टल ने एक गंभीर गलती की है. एक ऐसी गलती जिसके बारे में उन्हें कल सफाई और जवाब देने पड़ेगे. उन्हें यहां बुलाने का मकसद यह जनना है कि आखिर दुनिया के बारे में उनके दिमाग में क्या चल रहा है.''

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने जनरल स्टैनली मैक्रिस्टल के बयान को एक कमजोर फैसला बताया. राष्ट्रपति ने कहा कि वह नैटो कमांडर से व्यक्तिगत तौर पर मिलकर सफाई मांगना चाहते हैं. इस मुलाकात के बाद सैन्य अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई का फैसला किया जाएगा. अधिकारियों के मुताबिक मैक्रिस्टल को पद से हटाए जाने की चर्चाएं भी तेज हो गई हैं.

दरअसल अफगानिस्तान में नैटो सेनाओं के शीर्ष कमांडर जनरल स्टैनली मैक्रिस्टल ने हाल ही में एक पत्रिका को इंटरव्यू दिया. इंटरव्यू में काबुल में तैनात अमेरिकी राजदूत कार्ल आइकेनबेरी की निंदा की. मैक्रिस्टल ने ओबामा और अमेरिकी उपराष्ट्रपति जो बाइडेन की भी आलोचना की. उन्होंने कहा कि ओबामा से पहली बार मुलाकात के बाद उन्हें निराशा हुई.

Barack Obama in Cairo

भड़के ओबामा

इन बयानों के बाद मैक्रिस्टल को फौरन अफगानिस्तान से अमेरिका बुलाया गया. अमेरिकी मीडिया में खबरें हैं कि मैक्रिस्टल इस्तीफा देने की पेशकश कर चुके हैं. लेकिन फैसला ओबामा और मैक्रिस्टल की मुलाकात के बाद ही किया जाएगा. मैक्रिस्टल की छुट्टी तय मानी जा रही है. अमेरिकी रक्षा मंत्री रॉबर्ट गेट्स ने कहा है कि जनरल मैक्रिस्टल अपने बयान के लिए माफी मांग चुके हैं. मंगलवार को गेट्स ने कहा, ''उन्होंने मुझसे माफी मांगी. जनरल ने उन लोगों से भी माफी मांगी है जिनके नाम उन्होंने लिए. लेकिन हम उनसे व्यक्तिगत तौर पर सफाई चाहते हैं, इसीलिए उन्हें वॉशिंगटन बुलाया गया है.''

इस बीच रोलिंग स्टोन नाम की पत्रिका ने दावा किया है कि जनरल मैक्रिस्टल अमेरिकी सरकार की अफगान नीति से तंग आ चुके हैं. यही वजह है कि उन्होंने इंटरव्यू में यह बातें खुलकर कहीं. रोलिंग स्टोन के लिए यह इंटरव्यू माइकल हस्टिंग किया. 25 साल के युवा पत्रकार का कहना है कि, ''मुझे लगता है कि युद्ध ओबामा के नियंत्रण से बाहर हो गया है. ओबामा का अफगानिस्तान युद्ध में कोई नियंत्रण नहीं रह गया है. नीतियों और अन्य गंभीर मुद्दों में भी राष्ट्रपति का कोई नियंत्रण नहीं है.''

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: आभा एम

संबंधित सामग्री